Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अमेरिका का बड़ा खुलासा, बोला- प्रमुख वैश्विक शक्ति के रूप में उभरने का समर्थन करता है ट्रंप प्रशासन

अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने आज कहा है कि ट्रंप प्रशासन भारत के प्रमुख वैश्विक शक्ति के रूप में उभरने और हिंद- प्रशांत क्षेत्र में एक प्रमुख सहयोगी के रूप में उसका समर्थन करता है।

अमेरिका का बड़ा खुलासा, बोला- प्रमुख वैश्विक शक्ति के रूप में उभरने का समर्थन करता है ट्रंप प्रशासन
X

अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने आज कहा है कि ट्रंप प्रशासन भारत के प्रमुख वैश्विक शक्ति के रूप में उभरने और हिंद- प्रशांत क्षेत्र में एक प्रमुख सहयोगी के रूप में उसका समर्थन करता है।

अमेरिका के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने ‘पीटीआई भाषा' से कहा कि अमेरिका और भारत के बीच संबंध कभी इससे मजबूत या बेहतर नहीं रहे। दोनों देशों के बीच हाल ही में व्यापार विवाद तथा रूस और ईरान के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंधों पर नयी दिल्ली की प्रतिक्रिया के बाद भारत - अमेरिका के संबंधों की स्थिति के बारे में पूछे गये एक सवाल पर वह प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहीं थीं।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक कानून ‘द काउंटरिंग अमेरिकास ऐडवर्सरीज थ्रू सैंगक्शन्ज एक्ट, (सीएएटीएसए) पर हस्ताक्षर किए हैं जिसके तहत रूस, ईरान और उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगाया गया है।

सीएएटीएसए के सेक्शन 231 के मुताबिक रूस के साथ रक्षा और खुफिया क्षेत्रों में महत्वपूर्ण लेनदेन करने वालों पर मध्यम प्रतिबंधों का प्रावधान है। हीथर ने बताया, ‘‘अमेरिका-भारत साझेदारी साझा लोकतांत्रिक मूल्यों पर आधारित है और नियम आधारित व्यवस्था के लिए प्रतिबद्ध है।

''उन्होंने कहा, ‘‘हम भारत के एक प्रमुख वैश्विक शक्ति के रूप में उभरने और हिंद- प्रशांत क्षेत्र में शांति, स्थायित्व और बढ़ती समृद्धि सुनिश्चित करने में हमारे प्रयासों के एक महत्वपूर्ण सहयोगी के रूप में उसका समर्थन करते हैं।''

विदेश मंत्रालय के एक अन्य प्रवक्ता ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर बताया कि विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और रक्षा मंत्री जिम मैटिस अपने समकक्षों के साथ इस साल वाशिंगटन में पहली‘ भारत - अमेरिका 2+2 डॉयलाग' की मेजबानी करने की तैयारी में है।

इस बैठक की तारीख अभी घोषित नहीं की गयी है। पहले यह बैठक मध्य अप्रैल में होनी थी लेकिन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के रेक्स टिलरसन को विदेश मंत्री के रूप में हटाये जाने के बाद इसे स्थगित कर दिया गया था। भारतीय प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी। (भाषा)

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story