Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अमेरिका बोला- पैसा चाहिए तो लायक बनो, पाकिस्तान ने दिया ये करारा जवाब

ट्रंप की चेतावनी तथा सहायता राशि रोके जाने के बाद अमेरिका और पाकिस्तान में तनाव बढ़ता जा रहा है। अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 1626 करोड़ रुपए की सैन्य सहायता पर रोक लगा दी है।

अमेरिका बोला- पैसा चाहिए तो लायक बनो, पाकिस्तान ने दिया ये करारा जवाब

ट्रंप की चेतावनी तथा सहायता राशि रोके जाने के बाद अमेरिका और पाकिस्तान में तनाव बढ़ता जा रहा है। अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 1626 करोड़ रुपए की सैन्य सहायता पर रोक लगा दी है। उसने और सख्त कदम उठाने की चेतावनी भी दी है।

गुरुवार को अमेरिका ने कहा कि पाकिस्तान को अगर हमसे पैसा चाहिए तो उसे उस लायक बनना होगा। वहीं, पाकिस्तान ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

पाकिस्तान की सेना ने कहा, अगर अमेरिका हमारे देश के खिलाफ कोई कार्रवाई करता है तो उसका जवाब दिया जाएगा। पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ने कहा, पाकिस्तान अब अमेरिका के इशारों पर नहीं चलेगा।

यह भी पढ़ें- चारा घोटाला: सीबीआई अदालत में जज के खुलासे से हड़कंप, लालू ने दिया मजेदार जवाब

मदद पाने लायक बनना होगा

अमेरिका विदेश विभाग के प्रवक्ता हीथर नॉर्ट ने कहा कि यदि पाकिस्तान को पैसा चाहिए तो उसे हासिल करने लायक बनना होगा। उन्होंने कहा कि हम ये नहीं कहना चाहते कि पाकिस्तान को ज्यादा कोशिशें करनी चाहिए, क्योंकि पाकिस्तान जानता है कि उसे क्या करना चाहिए।

उसे मदद पाने लायक बनना हागा। हमने अतीत में पाकिस्तान को सैन्य मदद दी थी। अब पाकिस्तान को यह दिखाने की जरूरत है कि वह आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई में ईमानदारी बरत रहा है।

पाक ने कहा, आवाम की उम्मीदों के मुताबिक देंगे जवाब

दोनों देशों के बीच चल रही तनातनी के बीच पहली बार पाकिस्तान सेना की प्रतिक्रिया आई है। इंटर-सर्विस पब्लिक रिलेशन्स के डीजी मेजर जनरल आसिफ गफूर ने बुधवार रात छोटा, लेकिन सख्त बयान दिया। बता दें कि आईएसपीआर पाक सेना का मीडिया विंग है।

गफूर इसके चीफ हैं। गफूर ने कहा, अगर अमेरिका पाकिस्तान के खिलाफ कोई भी कार्रवाई करता है तो अवाम की उम्मीदों के मुताबिक ही उसे जवाब दिया जाएगा। हालांकि, गफूर ने मीडिया के किसी सवाल का जवाब नहीं दिया।

अब ड्रोन हमला होने पर पाक मार गिराएगा

अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना पर हक्कानी नेटवर्क और तालिबान हमले करते हैं। हमले के बाद ये आतंकी पाकिस्तान में मौजूद अपनी पनाहगाहों में छुप जाते हैं। इन आतंकियों के खिलाफ अमेरिका ड्रोन हमले करता है। पाकिस्तान इसका विरोध करता है।

अब पाकिस्तान अमेरिकी ड्रोन हमलों के खिलाफ इन्हें मार गिराने जैसी कार्रवाई कर सकता है। पाकिस्तान के रास्ते अफगानिस्तान जाने वाली अमेरिकी सैनिकों की रसद रोकी जा सकती है। ये पहले भी हो चुका है।

पाक ने भारत पर लगाया आरोप

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री खुर्रम दस्तगीर का भी बयान आया। उन्होंने कहा, अब यह मुमकिन नहीं है कि अमेरिका हमारे देश को अपने इशारों पर चलने के लिए मजबूर कर सके। हाफिज सईद के जमात-उद-दावा पर उन्होंने कहा, इसका अमेरिका से कोई लेना-देना नहीं है।

खुर्रम ने आरोप लगाया कि भारत अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल पाकिस्तान पर हमलों के लिए कर रहा है। अमेरिका ने पाकिस्तान के खिलाफ हालिया रवैया इसलिए अपनाया, क्योंकि भारत सीपैक का विरोध कर रहा है।

Next Story
Top