Breaking News
अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने तालिबान के साथ शर्तें रखते हुए युद्धविराम की घोषणा, तालिबान का अभी तक कोई रिस्पांस नहींमौसम विभाग अलर्ट: अगले तीन घंटों में यूपी के 11 जिलों बारिश की संभावनापाक आर्मी को गले लगाने पर सिद्धू की मुश्किल बढ़ीदिल्ली समेत एनसीआर में मौसम हुआ सुहाना, कई इलाकों में झमाझम बारिशअंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की कमर टूटी, लंदन पुलिस को मिली बड़ी कामयाबीरेड अलर्ट : केरल में बाढ़ से अबतक 357 लोगों की मौत, NDRF का अब तक का सबसे बड़ा अभियान जारीअटल बिहारी वाजपेयीः अस्थियों को समेटनें पहुंची बेटी, हरिद्वार विसर्जित होंगी अटल जी की अस्थियांआज हरिद्वार में होगा अटल बिहारी वाजपेयी का अस्थि विसर्जन, पीएम और शाह भी रहेंगे मौजूद
Top

उत्तर कोरिया की धमकी के बावजूद शिखर वार्ता की तैयारी कर रहा है अमेरिका

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED May 17 2018 2:08AM IST
उत्तर कोरिया की धमकी के बावजूद शिखर वार्ता की तैयारी कर रहा है अमेरिका
अमेरिका ने कहा कि वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच होने वाली बैठक की तैयारियों में लगा है। उत्तर कोरिया ने इस ऐतिहासिक शिखर वार्ता को रद्द करने की धमकी देते हुए आरोप लगाया कि अमेरिका परमाणु निरस्त्रीकरण पर उसे अलग-थलग करने की कोशिश कर रहा है।
 
उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए ने एक बयान में कहा कि उत्तर कोरिया अपने परमाणु कार्यक्रम को एकतरफा तरीके से बंद करने के बदले में अमेरिका की ओर से वित्तीय सहायता को कभी स्वीकार नहीं करेगा।
 
सिंगापुर में 12 जून को होने वाली बैठक में दोनों देशों की अपनी सीमा पर सैन्य तनाव कम करने के हाल के समझौतों को लागू करने के तरीकों तथा अपने संबंध सुधारने पर चर्चा करने की संभावना थी। इन रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया करते हुए व्हाइट हाउस ने कहा कि उत्तर कोरिया ने जो कहा है उसपर वह स्वतंत्र रूप से विचार करेगा।
 
विदेश विभाग ने कहा कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि अमेरिका इस संबंध में मीडिया रिपोर्टों से अवगत है। सैंडर्स ने कहा कि उत्तर कोरिया ने जो कहा उसपर अमेरिका स्वतंत्र रूप से विचार करेगा और अपने सहयोगियों के साथ करीबी सहयोग करना जारी रखेगा।
 
विदेश विभाग ने कहा कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है और दक्षिण कोरिया तथा अमेरिका के बीच चल रहे अभ्यासों पर उत्तर कोरिया ने एक भी शब्द नहीं कहा है। विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने कहा कि किम ने पहले संकेत दिए थे कि वह दक्षिण कोरिया के साथ लंबे समय से नियोजित संयुक्त अभ्यास जारी रखने की अमेरिका की जरुरत और उद्देश्य को समझते हैं।
 
 
उन्होंने पत्रकारों ने कहा कि हमने उस सरकार या दक्षिण कोरिया सरकार से कुछ भी नहीं सुना जो यह संकेत दे कि हम ये अभ्यास ना करें या हम राष्ट्रपति ट्रंप और किम जोंग उन के बीच अगले महीने होने वाली बैठक की तैयारी ना करें। पेंटागन के प्रवक्ता कर्नल रॉब मैनिंग के अनुसार, दक्षिण कोरिया और अमेरिका के सैन्य बल अभी दक्षिण कोरिया-अमेरिका वार्षिक अभ्यास में व्यवस्थ हैं।
 
विदेश विभाग ने इन आरोपों को खारिज किया कि ये अभ्यास उकसाने वाले हैं। केसीएनए ने उत्तर कोरिया के हवाले से कहा कि उसके इस कदम के पीछे की वजह अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच चल रहा सैन्य अभ्यास है।
 
उसने कहा कि संयुक्त अभ्यास अमेरिका और दक्षिण कोरिया के अचल रूख को दर्शाता है ताकि वह उत्तर कोरिया के खिलाफ अधिकतम दबाव बना सके और प्रतिबंध लगाए रखे। इस बीच, उत्तर कोरिया ने इन सैन्य अभ्यासों के कारण दक्षिण कोरिया के साथ होने वाली उच्च स्तरीय बैठक भी रद्द कर दी।
 
उत्तर कोरिया ने कोरियाई देशों के बीच बातचीत विफल होने और उत्तर-दक्षिण कोरिया संबंध खराब होने के लिए दक्षिण कोरिया प्रशासन को पूरी तरह से जिम्मेदार ठहराया। बयान में कहा गया है कि अमेरिका को दक्षिण कोरिया के साथ मिलकर उत्तर कोरिया के खिलाफ उकसावे की सैन्य कार्रवाई करने से पहले अब डीपीआरके-अमेरिका शिखर वार्ता के भविष्य के बारे में दो बार सोचना होगा।
 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
america is still preparing for the summit despite north korea threat

-Tags:#North Korea#USA#Donald Trump#Kim Jong-un
mansoon
mansoon

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo