Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अमरनाथ हमला: सरकार की हाई-लेवल मीटिंग में हुए ये 5 बड़े फैसले

अमरनाथ हमले के मास्टरमाइंड लश्कर आतंकी इस्माइल की तस्वीर सामने आई है।

अमरनाथ हमला: सरकार की हाई-लेवल मीटिंग में हुए ये 5 बड़े फैसले

अंनतनाग में सोमवार को अमरनाथ यात्रियों की बस पर हमले में 7 यात्रियों की मौत हो गई जबकि अन्य घायल हुए। इस हमले के पीछे लशकर-ए-तैयबा का हाथ बताया जा रहै है। हमले में घायल 4 यात्रियों की हालत गंभीर है और मृतकों में 5 महिलाएं शामिल हैं। हमले में कुल 19 यात्री घायल हैं। हमले के वक्त बस में कुल 54 यात्री मौजूद थे।

जहां एर तरफ लश्कर-ए-तैयबा ने हमले की जिम्मेदारी लेने से इंकार किया है वहीं दूसरी तरफ अमरनाथ हमले के मास्टरमाइंड लश्कर आतंकी इस्माइल की तस्वीर सामने आई है। इस्‍माइल ने तीन अन्‍य आतंकियों के साथ मिलकर हमले को अंजाम दिया।
इस हमले को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने हाई-लेवल बैठक बुलाई है जिसमें रौ, आईबी के प्रमुख मौजूद हैं साथ ही NSA अजित डोभाल भी बैठक में पहुंच गए हैं। साथ ही जम्मू-कश्मीर के गवर्नर ने भी एक अलग मीटिंग बुलाई है।
आतंकी हमले को लेकर जम्मू समेत देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने इस हमले को लेकर कहा है कि हमले के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। हमारा पड़ोसी आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है।
अमरनाथ हमले को लेकर एनएसए अजीत डोभाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंचे हैं। डोभाल इस पूरे हमले की जानकारी पीएम मोदी को दे रहे हैं।
जम्मू कश्मीर के गवर्नर भी इस वक्त समीक्षा बैठक कर रहे हैं।
हाइलेवल मीटिंग में हुए ये पांच बड़े फैसले
1. राजनाथ सिंह द्वारा बुलाई गई हाई लेवल बैठक में ये फैसला लिया गया कि इस हमले में शामिल आतंकियों को मार गिराया जाए और आतंकियों के खिलाफ जॉइंट ऑपरेशन करके उन्हें खत्म किया जाए।
2. अनरेजिस्टर गाड़ी को अमरनाथ यात्रा करने से पहले चेकिंग की जाएगी।
3. सीआरपीएफ की रोजाना जाने वाली convy को और मजबूत बनाया जाएगा और ड्रोन के जरिए कड़ी निगरानी रखी जाएगी। इसके साथ ही सीआरपीएफ डीजी आर आर भटनागर कश्मीर में जाकर बालटाल और पहलगाम के रूट की सुरक्षा को और पुख्ता करके ग्राउंड रिपोर्ट गृहमंत्री राजनाथ सिंह को सौंपेंगे।
4. गृहराज्यमंत्री हंसराज अहीर को जम्मू-खश्मीर जाने के निर्देश दिए गए हैं। गृहराज्यमंत्री 3 बजे दिल्ली से कश्मीर जाएंगे। वहां वो जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री, राज्यपाल, और सुरक्षा बलों के साथ बैठक करेंगे।
5. आतंकियो के मूवमेंट की रियल टाइम जानकारी साझा करने को लेकर गृह मंत्रालय ने इंटेलीजेस इनपुट को और मजबूत बनाने की बात सुरक्षा एजेंसियों से कही।
Next Story
Top