Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने ऐतिहासिक फैसलों से दुनिया में नजीर पेश की हैः नायडू

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शनिवार को यहां कहा कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय अपनी निर्भीकता और निष्पक्षता के लिए प्रसिद्ध है और इसने अपने ऐतिहासिक और साहसिक फैसलों के जरिये दुनिया में नजीर पेश की है।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने ऐतिहासिक फैसलों से दुनिया में नजीर पेश की हैः नायडू

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शनिवार को यहां कहा कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय अपनी निर्भीकता और निष्पक्षता के लिए प्रसिद्ध है और इसने अपने ऐतिहासिक और साहसिक फैसलों के जरिये दुनिया में नजीर पेश की है।

नायडू ने उच्च न्यायालय के एनेक्सी भवन का उद्घाटन करने के बाद इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन के सभागार में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि इस उच्च न्यायालय ने अनेक प्रतिष्ठित न्यायाधीश एवं अधिवक्ता देश को दिए हैं। वैधानिक मामलों में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले न सिर्फ न्याय की कसौटी पर खरे उतरे, बल्कि उन्होंने संवैधानिक संकट को खत्म करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
उन्होंने कहा, "सुनहरे इतिहास के 150 वर्ष पूरे कर चुके उच्च न्यायालय के पन्नों में कुछ ऐसे फैसले भी रहे हैं जिसे देश ही नहीं दुनिया में आज भी याद किया जाता है। न्याय पालिका हमारे गणतंत्र का एक महत्वपूर्ण स्तंभ है और इससे संविधान के संरक्षण और संवर्धन की अपेक्षा की जाती है।"
न्यायालय के एनेक्सी भवन में 30 न्यायालय कक्षों, 20 न्यायाधीश चैम्बर्स बनने पर खुशी व्यक्त करते हुए नायडू ने कहा कि अभी तक चैम्बर्स की कमी के कारण त्वरित न्याय मिलने में जो देरी होती थी अब उसमें कमी आयेगी। इस अवसर पर राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि इलाहाबाद में एशिया का सबसे बडा उच्च न्यायालय है। यहां एक से बढ़कर एक फैसले हुए हैं जिसे विश्व में आज भी सम्मान से देखा जाता है।
नाईक ने कहा कि न्यायाधीशों के लिए कमरे तैयार हो गये हैं और जल्द से जल्द न्यायाधीशों की नियुक्ति भी हो जानी चाहिए, जिससे लंबित पड़े मामलों को शीघ्र निपटारा किया जा सके।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर कहा कि हम भारत की वर्तमान व्यवस्था और न्यायिक व्यवस्था के माध्यम से आमजन को न्याय सरलता, सुगमता पूर्वक दे सकें इसके लिए प्रयास किये जाने चाहिए।
इस अवसर पर उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति विनीत शरण, इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति डीबी भोसले, पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी मौजूद थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top