Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गले मिलने के बाद फिर भिड़ गए चाचा-भतीजा

शिवपाल ने अखिलेश यादव का माइक छीन लिया

गले मिलने के बाद फिर भिड़ गए चाचा-भतीजा
लखनऊ. समाजवादी पार्टी में चल रहे विवादों को खत्म करने के लिए सोमवार को लखनऊ स्थित समाजवादी पार्टी मुख्यालय पर मुलायाम सिंह ने एक महाबैठक आयोजित की। इस बैठक के जरिए वो पार्टी में चल रहे विवाद को खत्म करना चाह रहे थे और लगभग कर भी चुके थे कि अचानक कुछ ऐसा हुआ जिसका अंदाजा किसी को भी नहीं था।
पार्टी में चल रहे विवाद को खत्म करने के लिए बुलाई गई यह बैठक अखाड़े में बदल गई। दरअसल, अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच झड़प हो गई। शिवपाल ने अखिलेश यादव का माइक छीन लिया। दोनों के बीच तीखी बहस हुई। अखिलेश ने शिवपाल यादव को धक्का भी दिया। हंगामे के बीच मुख्यमंत्री बैठक से निकल गए। इसके बाद उनके समर्थकों द्वारा विधायक आशु मलिक को पीटे जाने की बाद भी सामने आई। मुलायम ने चाचा-भतीजे को कुछ देर पहले ही गले तो मिला दिया था, लेकिन दिल नहीं मिला पाए।
बैठक में मौजूद नेताओं ने बाहर आने के बाद बताया, 'मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश से कहा, मुझे एक लेटर की जानकारी मिली है, जिससे पता चलता है कि तुम मुसलमानों के विरोधी हो। मुख्यमंत्री ने इस बात का खंडन करते हुए वह लेटर दिखाने को कहा। मुलायम ने गवाही के लिए आशु मलिक को मंच पर बुलाया।' वहीं, कुछ लोगों का यह भी कहना है कि विवाद एक अखबार में छपी खबर को लेकर हुआ। कथित तौर पर अखिलेश ने कहा कि अमर सिंह ने आशु मलिक के जरिए खबर छपवाकर उन्हें औरंगजेब और नेताजी को शाहजहां बताया था।
बताया जा रहा है कि आशु मलिक ने मंच पर आकर कुछ कहा। इसके बाद अखिलेश अपनी बात रखने लगे। एक टीवी चैनल के विडियो में दिखा कि शिवपाल ने अखिलेश का माइक छीन लिया और कहा कि मुख्यमंत्री झूठ बोलते हैं। सूत्रों के मुताबिक, अखिलेश ने कहा- शिवपाल साजिश करते हैं।
इस दौरान वहां काफी शोर-शराबा बढ़ गया। दोनों खेमे के नेता नारेबाजी करने लगे। माहौल बिगड़ते देख सिक्योरिटी ने दखल दिया और नेताओं को बाहर किया गया। इस बीच अखिलेश यादव भी बैठक को छोड़कर बाहर निकल गए। बताया जा रहा है कि बहस के दौरान मुलायम सिंह यादव ने कार्यकर्ताओं से यह भी कह दिया कि आपका सीएम झूठ बोलता है।
इससे ठीक पहले मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव से कहा था कि शिवपाल उनके चाचा हैं और उन्हें गले लगाएं। अपने भाषण में मुलायम सिंह यादव ने एक तरफ अखिलेश यादव को कई मुद्दों पर फटकार लगाई तो शिवपाल यादव और अमर सिंह का बचाव किया। उन्होंने अमर सिंह को अपना भाई बताते हुए कहा कि उन्हें पार्टी से नहीं निकाल सकते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top