Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सपा दंगलः अखिलेश की हो गई सपा, मुलायम दरकिनार

तमतमाए शिवपाल सांप की तरह फन पटक रहे हैं।

सपा दंगलः अखिलेश की हो गई सपा, मुलायम दरकिनार
नई दिल्ली. समाजवादी पार्टी में चल रही लड़ाई के बीच रामगोपाल यादव ने कहा कि पार्टी में कोई समझौता नहीं होने जा रहा है। कन्फ्यूजन की कोई स्थिति नहीं है, सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ही हैं और हम सब उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ने जा रहे हैँ। पार्टी सिंबल को लेकर उन्होंने कहा कि इसका फैसला चुनाव आयोग को करना है।
इससे पहले दिल्ली से लौटने के बाद लखनऊ में अखिलेश और मुलायम ने बैठक की, लेकिन किसी नतीजे पर नहीं पहुंचे और न ही किसी फॉर्मूले पर बात बनी।

नतीजा न निकलता देख मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश को फिर से बैठक के लिए बुलाया है। सूत्रों के मुताबिक, बात सीटों के बंटवारे पर नहीं बल्कि कुछ नेताओं की उम्मीदवारी पर आकर अटक रही है।

बता दें कि समाजवादी पार्टी में आई दरार के बाद अखिलेश और मुलायम दोनों ही 'साइकिल' चुनाव चिह्न पर अपना दावा ठोंक रहे हैं। मुलायम ने सोमवार को इस सिलसिले में निर्वाचन आयोग से संपर्क किया और अखिलेश खेमे ने भी मंगलवार को यही दावा किया। हालांकि नतीजा बिल्कुल अलग हो सकता है।

सपा में सुलह की कोशिशें तेज
समाजवादी पार्टी में सुलह की कोशिशें तेज हो गई हैं। लखनऊ में मुलायम सिंह यादव के घर अखिलेश यादव पहुंच गए हैं, फिलहाल मुलाकात जारी है। पार्टी में सुलह की कोशिश आजम खान कर रहे हैं।
चुनाव आयोग जाकर वापिस लौटे बाप-बेटे
सपा में जारी संग्राम के बीच सोमवार शाम मुलायम सिंह यादव का खेमा चुनाव आयोग जाकर साइकिल चुनाव चिन्‍ह पर अपना दावा ठोक आया है। बाप-बेटे के झगड़े के बीच मुलायम सिंह यादव सोमवार को दिल्‍ली पहुंचे जहां अमर सिंह और अन्‍य नेताओं से मुलाकात के बाद शाम 4.30 बजे चुनाव आयोग गए। यहां मुलायम ने साइकिल पर अपना दावा जताया। पहले रामगोपाल ने कहा था कि वे आयोग नहीं जाएंगे। बाद में मुलायम के आयोग जाने के बाद उन्होंने भी चुनाव आयोग जाने का फैसला किया।
मुलायम से फोन पर ही बात हो पाई
सूत्रों के मुताबिक, इसके लिए वह मुलायम सिंह यादव से मिलने दिल्ली पहुंचे, लेकिन मुलायम से फोन पर ही बात हो पाई। अखिलेश यादव ने भी मुलायम से फोन पर बात की। इसके बाद अचानक मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ लौटने का फैसला कर लिया। रेगुलर फ्लाइट में अचानक टिकट न मिलने की वजह से उन्होंने चार्ट्ड प्लेन लेने का निर्णय किया। वहीं शिवपाल यादव भी लखनऊ पहुंच गए।
घर पर अमर सिंह, शिवपाल यादव के साथ लंबी बैठक
इससे पहले मुलायम ने सोमवार को दिल्ली में अपने घर पर अमर सिंह, शिवपाल यादव के साथ लंबी बैठक की। इसके बाद सभी एक साथ चुनाव आयोग गए। चुनाव आयुक्त से मुलाकात के वक्त इन तीनों के साथ जयाप्रदा भी मौजूद थीं।
सुलह के लिए अमर सिंह से राय ली गई
खबर यह भी है कि कल से ही अखिलेश और मुलायम के बीच सुलह की कोशिशें की जा रही थी। इस मामले में अमर सिंह से भी राय ली गई थी। अमर सिंह ने कहा- बेटे और बाप को साथ हो जाना चाहिए।
78 साल के पिता और 43 साल के बेटे के बीच संग्राम
जिस साइकिल पर सवार होकर पिता और पुत्र ने उत्तर प्रदेश की राजनीति को एक नई रफ्तार दी, अब उस साइकिल की मिल्कियत को लेकर 78 साल के पिता और 43 साल के बेटे के बीच संग्राम छिड़ चुका है।
पार्टी और चुनाव चिंह्न पर किस गुट का कब्जा
समाजवादी पार्टी में अब झगड़ा केवल इस बात पर हो रहा है कि पार्टी और चुनाव चिंह्न पर किस गुट का कब्जा होगा? मुलायम सिंह और अखिलेश यादव दोनों खुद को समाजवादी पार्टी का असली अध्यक्ष बता रहे हैं। ऐसे में अब सबकी नजर चुनाव आयोग पर टिकी है जिसे इस मामले में आखिरी फैसला करना है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top