Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एयरसेल- मैक्सिस मामलाः कार्ति चिदंबरम की 16 अप्रैल तक नहीं होगी गिरफ्तारी, दिल्ली हाईकोर्ट ने लगाई रोक

दिल्ली की एक अदालत ने 2 जी स्पेक्ट्रम मामलों से जुड़े एयरसेल- मैक्सिस मामले में गिरफ्तारी से संरक्षण की मांग वाली कार्ति चिदंबरम की याचिकाओं पर अपना फैसला आज सुरक्षित रख लिया।

एयरसेल- मैक्सिस मामलाः कार्ति चिदंबरम की 16 अप्रैल तक नहीं होगी गिरफ्तारी, दिल्ली हाईकोर्ट ने लगाई रोक

दिल्ली की एक अदालत ने 2 जी स्पेक्ट्रम मामलों से जुड़े एयरसेल- मैक्सिस मामले में गिरफ्तारी से संरक्षण की मांग वाली कार्ति चिदंबरम की याचिकाओं पर अपना फैसला अगली सुनवाई तक सुरक्षित रख लिया है।

अब एयरसेल- मैक्सिस मामले की अगली सुनवाई 16 अप्रैल को होगी। तब तक के लिए दिल्ली हाईकोर्ट ने कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है।

इसे भी पढ़े- केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले का कांग्रेस अध्यक्ष पर वार, कहा- नहीं हो सकती राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी की तुलना

विशेष न्यायाधीश ओ पी सैनी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकीलों को सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया। एक घंटे तक चली सुनवाई के दौरान वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने एयरसेल- मैक्सिस मामलों में कार्ति के लिए अग्रिम जमानत की मांग की है।
एयरसेल मैक्सिस मामले में दिल्ली की अदालत ने कार्ति चिदंबरम की 16 अप्रैल तक गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है।
गौरतलब है कि सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय( ईडी) ने ये मामले दर्ज किए थे। बता दें कि उच्च न्यायालय ने आईएनएक्स मीडिया मामले में कार्ति को कल जमानत दे दी थी।
सीबीआई के मामले में दलील देते हुए सिब्बल ने कहा कि एयरसेल- मैक्सिस मामले में कार्ति के खिलाफ ना तो कोई आरोप हैं और ना ही ऐसा कोई सबूत है जो यह साबित कर सकें कि वह एफआईपीबी अधिकारियों को जानते थे।
ईडी के मामले में कार्ति की ओर से ही पेश हुए वरिष्ठ वकील गोपाल सुब्रह्मण्यम ने कहा कि कार्ति ने अन्य मामलों में भी सहयोग किया है और ऐसा कोई सवाल ही नहीं उठता कि वह देश से फरार हो जाएंगे या सबूत के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ कर सकते हैं।
बहरहाल, दोनों जांच एजेंसियों ईडी और सीबीआई ने अग्रिम जमानत याचिका पर विस्तृत जवाब दाखिल करने के लिए तीन सप्ताह का समय मांगा है तथा उन्होंने कहा कि तब तक कार्ति को कोई भी अंतरिम संरक्षण ना दिया जाए। सिब्बल और सुब्रह्मण्यम के अलावा कार्ति के लिए पेश हुए वकीलों में वरिष्ठ वकील सलमान खुर्शीद और मोहित माथुर शामिल हैं।
कार्ति के पिता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम और उनकी पत्नी नलिनी चिदंबरम भी अदालत में काला कोट पहने मौजूद थे। आईएनएक्स मीडिया मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय से जमानत मिलने के कुछ घंटे बाद कार्ति ने एयरसेल- मैक्सिस मामले में गिरफ्तारी से संरक्षण के लिए कल याचिका दायर की।
यह मामला एयरसेल में निवेश के लिए एम/ एस ग्लोबल कम्युनिकेशन होल्डिंग सर्विसेज लिमिटेड कंपनी को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड( एफआईपीबी) की मंजूरी दिए जाने से संबंधित है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top