Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

खुलासा : मार्केट रेट से कम दामों पर बेचे एयर इंडिया के टिकट, करोड़ों का नुकसान

दिल्ली-अगरतला रूट पर एयरलाइन ने 85 फीसदी सीटें कम दाम पर बेची हैं।

खुलासा : मार्केट रेट से कम दामों पर बेचे एयर इंडिया के टिकट, करोड़ों का नुकसान
नई दिल्ली. एक तरफ तो सरकार महंगे एयरफेयर की शिकायतों से जूझ रही है, वहीं दूसरी ओर पता चला है कि एयर इंडिया की कई फ्लाइट्स के लिए मार्केट रेट से कम कीमत पर सीटें बेची जा रही हैं। एयर इंडिया के विजिलेंस डिपार्टमेंट की एक जांच में यह खुलासा हुआ है कि दिल्ली-अगरतला रूट पर एयरलाइन ने 85 फीसदी सीटें कम दाम पर बेची हैं। सामान्य किरायों के मुकाबले यह 50 फीसदी तक कम थे।

एयर इंडिया के एक अधिकारी ने कहा, 'विजिलेंस डिपार्टमेंट ने छह महीने के किराए ऑडिट करके इस साल अप्रैल में अपनी रिपोर्ट दी थी। उन्हें पता चला कि दिल्ली-अगरतला रूट पर 140 में से 120 सीटें सस्ते दाम पर बेची गईं।' अधिकारी ने बताया कि विजिलेंस डिपार्टमेंट में एयरलाइन को हाइएस्ट प्राइस ब्रैकेट में ज्यादा सीटें रखने की सलाह दी है।

ये भी पढ़े. 'देश में बढ़ रही हैं दलितों पर अत्याचार की वारदात', सोनिया ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी

इस मामले की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी ने कहा, 'जांच के बाद किरायों में बढ़ोतरी के प्रस्ताव से एयरलाइन की आमदनी प्रति फ्लाइट 50,000 रुपये बढ़ेगी।' विजिलेंस रिपोर्ट की जानकारी रखने वाले एक अन्य अधिकारी ने कहा कि डिपार्टमेंट ने सस्ती टिकटों के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं पाया है।

ये भी पढ़े. मैगी विवाद : कोर्ट ने अमिताभ, माधुरी, प्रीति के खिलाफ FIR दर्ज करने का दिया आदेश

एक अधिकारी ने बताया कि, 'हालांकि विजिलेंस डिपार्टमेंट कई घरेलू और इंटरनेशनल रूट्स की ऑडिटिंग कर रहा है। जांच के बाद सभी रूटों के लिए डिपार्टमेंट अपने सुझाव देगी।' एयर इंडिया के एक टॉप अधिकारी ने विजिलेंट रिपोर्ट को सही ठहराते हुए कहा कि किराये कॉम्पिटिटर की प्राइसिंग के आधार पर तय किए जाते हैं। अधिकारी ने यहा भी कहा कि, 'रेवेन्यू मैनेजमेंट डिपार्टमेंट के लोगों का कहना है कि टिकटों की प्राइसिंग कॉम्पिटिटर्स की प्राइसिंग के आधार पर होती है। हमारी कोशिश यही रहती है कि फ्लाइट खाली उड़ान न भरे।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top