Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नोटबंदी के बाद नोटों की ढुलाई के लिए एयरफोर्स ने 29.41 करोड़ का बिल सौंपा

नोटबंदी के बाद जारी किए गए 2000 और 500 रुपए के नए नोटों की ढुलाई में भारतीय वायु सेना के अत्याधुनिक परिवहन विमान-सी-17 और सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस के इस्तेमाल पर 29.41 करोड़ रुपए से अधिक की रकम खर्च की गई।

नोटबंदी के बाद नोटों की ढुलाई के लिए एयरफोर्स ने 29.41 करोड़ का बिल सौंपा

नोटबंदी के बाद जारी किए गए 2000 और 500 रुपए के नए नोटों की ढुलाई में भारतीय वायु सेना के अत्याधुनिक परिवहन विमान-सी-17 और सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस के इस्तेमाल पर 29.41 करोड़ रुपए से अधिक की रकम खर्च की गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को प्रचलन से बाहर करने की घोषणा की थी। प्रधानमंत्री की इस घोषणा से 86 फीसदी नोट व्यवस्था से बाहर हो गए थे। इसकी भरपाई नोटबंदी के बाद जारी 2000 और 500 रुपए के नए नोटों से अविलंब करने की आवश्यकता थी।

यह भी पढ़ें- तुर्की: ट्रेन पटरी से उतरी, दस की मौत और 73 घायल

भारतीय वायु सेना द्वारा एक आरटीआई आवेदन का दिए गए जवाब के अनुसार सरकार के आठ नवंबर 2016 को 1000 और 500 रुपए के पुराने नोटों को अचानक से प्रचलन से बाहर करने के बाद उसके परिवहन विमानों सी-17 और सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस ने सेक्युरिटी प्रिंटिंग प्रेस और टकसालों से देश के विभिन्न हिस्सों में नोटों की ढुलाई करने के लिए 91 चक्कर लगाए।

आरबीआई और सरकारी आंकड़ों के अनुसार आठ नवंबर 2016 तक 500 के 1716.5 करोड़ नोट थे और 1000 रुपए के 685.8 करोड़ नोट थे। इस तरह इन नोटों का कुल मूल्य 15.44 लाख करोड़ रुपए था जो उस समय प्रचलन में मौजूद कुल मुद्रा का तकरीबन 86 फीसदी था।

यह भी पढ़ें- दिल्ली: पंजाबी बाग में सड़क हादसा, पांच लोग घायल

सेवानिवृत्त कोमोडोर लोकेश बत्रा की आरटीआई के जवाब में वायु सेना ने कहा कि उसने सरकारी स्वामित्व वाले सेक्युरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया और भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लिमिटेड को अपनी सेवाओं के बदले में 29.41 करोड़ रुपए का बिल सौंपा है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top