Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ओवैसी के नेता का विवादित बयान, अनंत कुमार हेगड़े की जुबान काटकर लाने वाले को देंगे 1 करोड़ का ईनाम

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के एक नेता ने विवादित बयान दिया है।

ओवैसी के नेता का विवादित बयान, अनंत कुमार हेगड़े की जुबान काटकर लाने वाले को देंगे 1 करोड़ का ईनाम

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के एक नेता ने विवादित बयान दिया है। एआईएमआईएम ने गुरुशांत पट्टेदार ने कहा, 'जो भी अनंत कुमार हेगड़े की जुबान काटकर लाएगा, उसे हम 1 करोड़ रुपये इनाम में देंगे।'

दरअसल केंद्रीय कौशल विकास राज्‍यमंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने पिछले दिनों धर्मनिरपेक्षता को लेकर विवादित बयान दिया था। हेगड़े के इसी बयान पर प्रतिक्रिया में पट्टेदार ने यह बात कही। पट्टेदार ने कहा, हेगड़े ने अपने बयान से दलितों, मुसलमानों, पिछड़े वर्गों और धर्मनिरपेक्ष लोगों को पीड़ा पहुंचाई है।

इसे भी पढ़ेंः पाकिस्तानी पत्रकार ने कुलभूषण जाधव की मां से किया आपत्तिजनक सवाल, देखिए वीडियो

हेगड़े ने कहा था, 'जो लोग खुद को धर्मनरपेक्ष कहते हैं, वे नहीं जानते कि उनका खून क्या है। हां, संविधान यह अधिकार देता है कि हम खुद को धर्मनिरपेक्ष कहें, लेकिन संविधान में कई बार संशोधन हो चुके हैं, हम भी उसमें संशोधन करेंगे, हम सत्ता में इसलिए ही आए हैं।'

ये भी कहा

हेगड़े ने कहा था, 'यह नई परंपरा चलन में है, जिसमें लोग अपने आप को धर्मनिरपेक्ष बताते हैं। मुझे 'खुशी' होगी अगर कोई यह दावा गर्व से करे कि वह मुस्लिम, ईसाई, लिंगायत, ब्राह्मण या हिंदू है।'

कांग्रेस नेता किया विरोध

कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव ने कहा, "हमारा देश धर्मनिरपेक्षता के सिद्धांत पर बना है और इसमें सभी जातियों, पंथों, नस्लों और धर्मो के सह-अस्तित्व यानी मिलजुलकर रहने का प्रावधान है। हमारा संविधान विचारों पर आधारित है, जिसका अपमान भाजपा हेगड़े को की अपमानजनक बयान देने की छूट देकर कर रही है।"

इसी साल बने थे केंद्रीय मंत्री

हेगड़े को इसी साल सितंबर में हुए केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल के क्रम में केंद्रीय मंत्री बनाया गया है। वह उत्तर कर्नाटक निर्वाचन क्षेत्र से पांच बार लोकसभा सदस्य चुने जा चुके हैं। कर्नाटक में विधानसभा चुनाव अगले साल होना है, जिसकी तैयारी में भाजपा अभी से लग गई है। तटीय कर्नाटक में दंगों का दौर उसी का हिस्सा माना जा रहा है। भाजपा के सामने सत्तारूढ़ कांग्रेस को सत्ता से बेदखल करने की चुनौती है।

Share it
Top