Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गुजरात राज्यसभा चुनाव: अहमद अकेले ही बने ‘पटेल’

अहमद पटेल ने कहा-चुनाव में हार जीत तो लगी रहती है।

गुजरात राज्यसभा चुनाव: अहमद अकेले ही बने ‘पटेल’

कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के चुनावी रणनीतिकार और पर्दे के पीछे रहते हुए सबसे शक्तिशाली माने जाने वाले राज्यसभा सदस्य अहमद पटेल ने चुनावी रणनीति के मामले में खुद को ‘पटेल’ को साबित कर दिया है।

खास बात है कि नाक का सवाल बनी गुजरात राज्यसभा की एक सीट को पाने के लिए भारतीय जनता पार्टी का पूरा कुनबा लगा हुआ था,वहीं अपनी सीट के लिए लड़ाई पटेल ने अकेले ही लड़ी।

इस चुनाव को नाक का सवाल बना देने वाली भाजपा की रणनीति जाहीर होने के बाद अहमद पटेल के साथ कांग्रेस के चुनिंदा आला नेताओ की एक खास बैठक हुई थी।

इसे भी पढ़ें- अहमद पटेल को जिताने के लिए कांग्रेस को खर्च करने पड़े लाखों रुपए, करनी पड़ी दिन-रात मेहनत

मंगलवार को हुए मतदान से पांच दिन पहले नई दिल्ली में हुई इस बैठक में कांग्रेस के राज्यसभा के बडे नेता शामिल थे। इस बैठक का एकमात्र एजेंडा गुजरात की राज्यसभा सीट की लड़ाई थी।

बैठक में कांग्रेस के दिग्गज नेताओ ने अहमद पटेल से पूछा कि अहमद भाई,चुनाव को लेकर उनकी रणनीति क्या है…इस चुनाव में क्या संभव मदद हम सब मिलकर सकते है।

बैठक में शामिल राज्यसभा के वरिष्ठ सदस्य ने हरिभूमि से नाम नहीं छापने के अनुरोध पर बताया कि भाजपा के रवैये को देखते हुए पार्टी के दूसरे नेता पटेल की जीत को लेकर शंकित थे।

इसे भी पढ़ें- गुजरात राज्यसभा चुनाव: इन दो विधायकों के वोट रद्द न होते तो हार जाते अहमद पटेल

चुनाव में अहमद भाई को मदद की पेशकश भी कर दी थी। इसके उल्ट बैठक में उन्होंने साफ कर दिया था कि मेरी जीत तय है। मैं मामले को संभाल लूंगा। इसके बावजूद कुछ सदस्यों ने कहा कि फिर भी हार गए तो… पटेल का जवाब था कि चुनाव में हार जीत तो लगी रहती है।
कांग्रेस के नेताओं के मुताबिक बैठक में पटेल न तो साफ किया वह जीत के लिए कौन सा फार्मूला लगा रहे है और क्या तैयारियां की है। माना यह भी जा रहा है कि चुनाव में दो वोटो के रद्द होने के पीछे की पटकथा पहले से ही तैयार की जा चुकी थी।
Next Story
hari bhoomi
Share it
Top