Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब हवाई जहाज से कर सकेंगे ताजमहल की यात्रा

आगरा में एयरफोर्स एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है।

अब हवाई जहाज से कर सकेंगे ताजमहल की यात्रा
नई दिल्ली. देश को आजाद हुए 70 साल बीत चुके हैं, लेकिन ताजमहल नगरी आगरा में कोई एयरपोर्ट नहीं है। यह हाल तब है, जब सबसे ज्यादा पर्यटक ताजमहल देखने के लिए इस शहर में पहुंचते हैं। अब तक पर्यटकों को विमान से दिल्ली आना पड़ता है और इसके बाद 200 किमी का सफर सड़क मार्ग या ट्रेन के जरिए तय करना पड़ता है। आगरा में एकमात्र एयरफोर्स एयरपोर्ट पर रक्षा मंत्रालय का कब्जा है लेकिन अब इस एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है।
जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश सरकार ने घोषणा की है कि वह आगरा में एयरपोर्ट बनवाने के लिए 150 एकड़ भूमि उपलब्ध कराएगी और इसके विस्तार के लिए बिल भी लाएगी। रनवे के निर्माण पर ही करीब 100 करोड़ रुपये की लागत का अनुमान लगाया जा रहा है। साथ ही यह पूरा काम वायु सेना की देखरेख में होगा।
उत्तर-प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में ही विधानसभा चुनाव होने हैं और राज्य की अखिलेश यादव सरकार जल्द से जल्द इस परियोजना पर काम शुरू करना चाहती है। बता दें कि हवाई अड्डा और हाईकोर्ट की बेंच पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मतदाताओं की दो बड़ी मांगों में से हैं। आगरा में जिला स्तर के अधिकारियों का कहना है कि भूमि अधिग्रहण में कोई दिक्कत नहीं होगी, क्योंकि सरकार ने पहले से ही वहां मौजूद वायुसेना एयरबेस के आसपास के 350 भू-स्वामियों से सहमति ली हुई है। उन्होंने कहा कि जो भूमि एयरपोर्ट के लिए चाहिए वह एक महीने से भी कम समय में उपलब्ध हो जाएगी।
राज्य के मुख्य सचिव दीपक सिंघल ने बताया कि, 'मैं पहले ही साइट का दौरा कर चुका हूं, काम जल्द ही शुरू हो जाएगा और हमारी योजना है कि इसे मार्च 2017 तक पूरा कर दिया जाए।'
वर्तमान में आगरा सड़क और रेल मार्ग से तो जुड़ा हुआ है, लेकिन वाणिज्यिक उड़ान सेवाओं के नहीं होने से पर्यटन उद्योग पर नकारात्मक असर पड़ा है। भारत में आगरा ख़ास पर्यटन केंद्रों में से एक है। लेकिन यहां आने वाले पर्यटकों को हवाई सुविधा न होने के कारण सड़क और रेलयात्रा पर ही निर्भर होना पड़ता था।
राज्य पर्यटन के एक बड़े अधिकारी ने कहा, 'पर्यटक दिल्ली में उतरते हैं और उनकी यात्रा को दिल्ली के बड़े टूर ऑपरेटर मैनेज करते हैं.' अधिकारियों ने अपनी बात को साबित करने के लिए कुछ गंभीर सांख्यिकीय आंकड़े भी रखे। हर साल करीब 65 लाख भारतीय और 7 लाख विदेशी पर्यटक ताजमहल देखने आते हैं। आगरा को 50 वर्ग किलोमीटर में तीन विश्व धरोहर (ताजमहल, आगरा का किला और फतेहपुर सीकरी) स्थलों के होने का अद्वितीय गौरव होने के बावजूद भी 10 फीसदी से अधिक पर्यटक आगरा में नहीं रुकते हैं।
वायुसेना ने ललितपुर जिले में 273 एकड़ के बंद पड़े रनवे का भी पुनःनिर्माण कराने के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। रक्षा मंत्रालय यह पूरी जमीन राज्य सरकार को देने को तैयार है। जिससे यहां फ्लाईंग क्लब की शुरुआत हो सके।
साभार-Ndtv
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top