Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''फेलिन'' फिर ''हेलेन'' और अब ''लहर'' तबाही के लिए तैयार

आंध्र प्रदेश और उसके तटीय इलाकों में एक और विनाशकारी चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है। पिछले दिनों फेलिन और हेलेन से जूझ चुके राज्य के लोगों को अब ''लहर'' से जूझना होगा।

चेन्नई. आंध्र प्रदेश और उसके तटीय इलाकों में एक और विनाशकारी चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है। पिछले दिनों फेलिन और हेलेन से जूझ चुके राज्य के लोगों को अब 'लहर' से जूझना होगा। यह तूफान 28 नवंबर को मछलीपट्नम और कलिंगपटनम के बीच से होकर गुजरेगा। दूसरी ओर, रविवार देर रात अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के तटों पर इस तूफान ने 110 किमी की रफ्तार से दस्तक दे दी। रंजत, लांगआइसलैंड और हतबे जैसे इलाकों से सैकड़ों लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

उसके बाद वह बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व हिस्से में उभरेगा और फिर धीरे-धीरे भयंकर चक्रवाती तूफान का रुप लेगा। भारतीय मौसम विभाग की रिपोर्ट का हवाला देत हुए आंध्रप्रदेश के आपदा प्रबंधन आयुक्त सी पार्थसारथी ने आज शाम यहां संवाददाताओं से कहा कि चक्रवात ‘लहर’ पश्चिम-उत्तरपश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा एवं 28 नवंबर को पूर्वाह्न को मछलीपटनम और कलिंगपटनम के बीच काकीनाडा के समीप आंध्रप्रदेश के तट को पार करेगा।

उन्होंने कहा कि किसानों, मछुआरों और अन्य लोगों को इस भयंकर चक्रवाती तूफान के मद्देनजर तैयारी कर लेनी चाहिए क्योंकि तैयारी के लिए अब भी चार दिन का समय है। मौसम विभाग के अनुसार उसके प्रभाव में आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, ओड़िशा और तटीय एवं अंदरुनी कर्नाटक में बारिश होगी।

पिछले महीने आंध्र प्रदेश और ओडिशा में आए भीषण तूफान फेलिन ने भारी तबाही मचाई थी। आंध्र के लोग इससे उबर भी नहीं पाए थे कि पिछले शुक्रवार को चक्रवाती तूफान हेलेन ने कहर बरपाया और अब राज्य पर 'लहर' का खतरा मंडरा रहा है। हेलेन से राजमुंदरी जिले में चार लोगों को मौत हुई और करीब 70,303 लोग प्रभावित हुए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top