Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''डोकलाम विवाद के बाद भारत और चीन के संबंधों में जमी बर्फ धीरे-धीरे पिघलने लगी है''

बीते कुछ समय के दौरान भारत की ओर से चीन में तीन हाईप्रोफाइल दौरे हुए हैं। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण का दौरा मुख्य है।

डोकलाम विवाद के बाद भारत और चीन के संबंधों में जमी बर्फ धीरे-धीरे पिघलने लगी है
X

बीते वर्ष डोकलाम विवाद के बाद भारत और चीन के संबंधों में जमी बर्फ धीरे-धीरे पिघलने लगी है और अब यह रिश्ता बदलाव की ओर बढ़ने लगा है। जिसमें दोनों देशों के बीच लगातार बढ़ रहा द्विपक्षीय मुलाकातों और बातचीत का सिलसिला शामिल है।

यहां मंगलवार को राजधानी में शुरु हुए नौसेना के कमांडरों के सम्मेलन से इतर पत्रकारों से बातचीत में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हम बात कर रहें हैं और मुलाकात भी। यह अपने आप में भारत और चीन के बीच एक बड़ा बदलाव है।

इसे भी पढ़ें- दिल्ली-NCR में कैटरिंग कारोबारियों पर IT का छापा, 100 करोड़ के कालेधन का खुलासा

गौरतलब है कि बीते कुछ समय के दौरान भारत की ओर से चीन में तीन हाईप्रोफाइल दौरे हुए हैं। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण का दौरा मुख्य है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के नारबल में पत्थरबाजी की घटना में तमिलनाडु के एक पर्यटक की हत्या की मैं निंदा करती हूं। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मुझे पूरा विश्वास है कि सूबे की मुख्यमंत्री भी यह चाहती होंगी कि वहां ज्यादा से ज्यादा से पर्यटक जाएं। क्योंकि यह स्थिति को सामान्य करने के लिए मददगार होगा।

इसे भी पढ़ें- कर्नाटक चुनाव 2018: पहली बार प्रचार करने उतरीं सोनिया ने कहा- मोदी को 'कांग्रेस मुक्त भारत' का भूत लगा

आतंकवाद से निपटने दिखानी होगी मजबूती

उन्होंने कहा कि सरकार आतंकियों के साथ बेहद मजबूती से निपट रही है। मुझे लगता है कि इस संवेदनशील मामले को बेहद बारीकी से समझने की जरुरत है। हम केवल आतंकवाद से निपटने की जिम्मेदारी सशस्त्र सेनाओं पर नहीं डाल सकते। हमें भी इसके प्रति मजबूती दिखानी होगी।

हमें पर्यटकों के लिए सुरक्षित माहौल तैयार करने की जरुरत है। तभी सामान्य स्थिति बहाल हो सकती है। सेनाओं में लिंग समानता को लेकर सीतारमण ने कहा कि मामले को लेकर मंत्रालय में विस्तार से चर्चा हुई है।

मैं तीनों सेनाओं के साथ इस मामले को लेकर काम कर रही हूं कि कैसे एक समानता के साथ महिलाओं को स्थायी कमीशन दिया जाए। मामला न्यायालय के समक्ष विचाराधीन है। इसलिए इससे ज्यादा इसपर टिप्पणी करना उचित नहीं होगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story