Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

40 साल बाद भारत बन जाएगा मुस्लिमों का नंबर-1 देश

अमेरिकी थिंक टैंक प्यू रिसर्च सेंटर ने वैश्विक मुस्लिम आबादी पर नए आंकड़े पेश किए हैं। इसके साथ ही 2060 तक सबसे ज्यादा मुस्लिम और ईसाई आबादी वाले शीर्ष 10 देशों की सूची भी जारी की है।

40 साल बाद भारत बन जाएगा मुस्लिमों का नंबर-1 देश
X

अमेरिकी थिंक टैंक प्यू रिसर्च सेंटर ने वैश्विक मुस्लिम आबादी पर नए आंकड़े पेश किए हैं। इसके साथ ही 2060 तक सबसे ज्यादा मुस्लिम और ईसाई आबादी वाले शीर्ष 10 देशों की सूची भी जारी की है। वर्तमान में सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला देश इंडोनेशिया है जहां 2015 के आंकड़ों के आधार पर 219960,000 मुसलमान रहते हैं।

मुस्लिम आबादी के मामले में दूसरे स्थान पर भारत है जहां 194,810,000 मुसलमान रहते हैं और तीसरे स्थान पर पाकिस्तान है जहां 184,000000 मुसलमान रहते है। वर्तमान में चौथे स्थान पर बांग्लादेश और पांचवें स्थान पर नाइजीरिया है। प्यू रिसर्च के मुताबिक, 2060 तक भारत सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला देश बन जाएगा।

2060 तक भारत में मुस्लिम आबादी 3,33,090,000 होगी। यह आबादी भारत की कुल आबादी का 19.4 फीसदी होगा जबकि दुनिया की कुल मुस्लिम आबादी का 11.1 फीसदी होगा। वहीं, 2060 तक पाकिस्तान 28.36 करोड़ मुस्लिम आबादी के साथ दूसरे स्थान पर पहुंच जाएगा। 2060 तक पाकिस्तान की कुल आबादी में 96.5 फीसदी आबादी मुस्लिम होगी, जबकि दुनिया की कुल मुस्लिम आबादी में पाकिस्तान का योगदान 9.5 फीसदी होगा।

2060 तक नाइजीरिया की मुस्लिम आबादी 28.31 करोड़ होगी और मुस्लिम आबादी वाले देशों की सूची में तीसरे स्थान पर आ जाएगा। इस सूची में चौथे स्थान पर इंडोनेशिया होगा जिसकी मुस्लिम आबादी 25.34 करोड़ होगी। यह 2060 तक दुनिया की कुल मुस्लिम आबादी का 8.5 फीसदी होगा।

बांग्लादेश पांचवे और इजिप्ट छठवें स्थान पर होंगे

प्यू रिसर्च के अनुमान के मुताबिक, 2060 तक मुस्लिम आबादी के मामले में पांचवें स्थान पर बांग्लादेश, 6वें स्थान पर इजिप्ट, सातवें स्थान पर इराक, आठवें स्थान पर तुर्की, 9वें स्थान पर ईरान और 10वें स्थान पर अफगानिस्तान होगा। 2015 में वैश्विक मुस्लिम आबादी 175,52620000 थी जो 2060 तक बढ़कर 2987,390,000 हो जाएगी।

प्यू रिसर्च सेंटर के आंकड़े यह भी दिखाते हैं कि इस्लाम धर्म अपने पारंपरिक और ऐतिहासिक केंद्रों से कैसे दूर जा रहा है। दुनिया के पांच सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाले देश या तो दक्षिण एशिया या दक्षिणपूर्व एशिया में हैं या अफ्रीका में। जबकि मध्य-पूर्व देश इस सूची में नजर नहीं आते हैं। वहीं, दुनिया के 10 सबसे बड़ी मुस्लिम आबादी वाले देशों में मुसलमानों की आबादी में 2060 तक थोड़ी सी गिरावट आएगी। कुल मिलाकर, दुनिया में ईसाई आबादी 2.3 अरब है और मुस्लिम आबादी 1.8 अरब है। 2060 तक यह फर्क कम हो जाएगा।

2060 तक दुनिया में 3 अरब ईसाई और करीब 3 अरब मुस्लिम आबादी होगी

प्यू रिसर्च के अनुमान के मुताबिक, 2060 तक दुनिया में 3 अरब ईसाई और करीब 3 अरब ही मुस्लिम आबादी होगी। इसकी एक वजह ये है कि ईसाईयों की तुलना में मुस्लिम आबादी युवा है और उनकी वृद्धि दर ज्यादा है। 2060 तक भारत इंडोनेशिया को पीछे छोड़ते हुए सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला देश बन जाएगा। हालांकि, इसके बावजूद, मुस्लिम हिंदू बहुल भारत में अल्पसंख्यक (19 फीसदी) ही रहेंगे।

दुनिया के 10 सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाले देशों में अन्य धर्मों के अनुयायियों की भी अच्छी संख्या होगी। फिलहाल, भारत दूसरी सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है लेकिन इस्लाम का पूरी आबादी में योगदान सिर्फ 15 फीसदी ही है और हिंदू धर्म बहुसंख्यकों का धर्म है। वहीं, दुनिया की 6वीं सबसे ज्यादा ईसाई आबादी वाला देश नाइजीरिया मुस्लिम आबादी के मामले में भी विश्व में 5वें स्थान पर है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story