Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा ने दिया इस्तीफा

भ्रष्टाचार के मामले में भारतीय मूल के बिजनेसमैन गुप्ता ब्रदर्स यानी अजय अतुल और राजेश के अरेस्ट होने के बाद राष्ट्रपति जैकब जुमा की मुश्किलें और बढ़ गई हैं।

अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा ने दिया इस्तीफा
X

भ्रष्टाचार के मामले में भारतीय मूल के बिजनेसमैन गुप्ता ब्रदर्स यानी अजय, अतुल और राजेश के अरेस्ट होने के बाद राष्ट्रपति जैकब जुमा की मुश्किलें और बढ़ गई थी। जानकारी के मुताबिक जुमा ने अब पद से इस्तीफा दे दिया है। अफ्रीका नेशनल कांग्रेस ने जुमा को इस्तीफा देने के आदेश दिए थे। गुप्ता परिवार को जुमा का करीबी माना जाता है। विपक्ष का आरोप है कि जुमा ने सत्ता का इस्तेमाल कर गुप्ता ब्रदर्स को करोड़ों का फायदा पहुंचाया है। साउथ अफ्रीका में विपक्ष का कहना है कि इस परिवार का सरकार में दखल है।

जुमा के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव

अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस के चीफ जैक्सन मथेम्बु ने बुधवार को एलान किया कि इस्तीफा नहीं देने की स्थिति में जुमा के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा। हालांकि, इस एलान के बाद जुमा ने टीवी पर बयान दिया कि वो अभी इस्तीफे के लिए तैयार नहीं हैं क्योंकि, उन्हें ऐसा करने की ठोस वजह नजर नहीं आती।

गुप्ता ब्रदर्स को क्यों किया अरेस्ट

स्पेशल पुलिस हॉक्स की ओर से बुधवार को जारी स्टेटमेंट में बताया गया कि रेड्स व्रेदे फार्म केस में डाली गई। इसके बाद अजय, अतुल और राजेश गुप्ता को अरेस्ट कर लिया गया।

डेयरी फार्म को लिया गलत तरीके से

गुप्ता परिवार पर आरोप है कि उन्होंने व्रेदे के करीब एस्तीना डेयरी फार्म को गलत तरीके से करोड़ों रूपए खर्च कर अपने कब्जे में ले लिया था जबकि, इस प्रोजेक्ट को अश्वेत और गरीब किसानों की मदद लिए शुरू किया जाना था।

जुमा से गुप्ता ब्रदर्स का कनेक्शन

जैकब जुमा का बेटा दुदुजाने गुप्ता परिवार की कंपनी सहारा कम्प्यूटर्स में डायरेक्टर पद पर रह चुका है। इसके अलावा उनकी तीसरी पत्नी बोंगी नगेमा और एक बेटी भी गुप्ता की कंपनियों में नौकरी कर चुकी हैं।

कौन है गुप्ता ब्रदर्स?

- तीनों भाई अतुल, अजय और राजेश 1993 में भारत से साउथ अफ्रीका गए थे। यहां इन्होंने कम वक्त में कम्प्यूटर, माइनिंग, एनर्जी, टेक्नोलॉजी और मीडिया से जुड़े कारोबार खड़ा कर लिया।

कई और लोगों ने लगाए आरोप

परिवार पर देश की राजनीति को प्रभावित करने के आरोप लगते रहे हैं। कई लोग परिवार पर भ्रष्टाचार और पैसों की दम पर देश को चलाने का आरोप भी लगा चुके हैं। साउथ अफ्रीका के एक्स-डिप्टी फाइनेंस मिनिस्टर मकेबिसी जोनास ने 2016 में आरोप लगाया था कि गुप्ता परिवार ने उन्हें 50 मिलियन डॉलर्स (करीब 321 करोड़ रूपए) रिश्वत ऑफर की थी। तीनों भाई चाहते थे कि जोनास फाइनेंस मिनिस्टर रहते हुए उनके प्रोजेक्ट्स को पास करते रहें।

1 लाख से ज्यादा ई-मेल हुए लीक

2017 में 1 लाख से ज्यादा ई-मेल्स लीक हुए थे। इनमें सरकार पर गुप्ता परिवार के प्रभाव का खुलासा हुआ था। इन मेल से गुप्ता परिवार को मिले सरकारी कॉन्ट्रैक्ट्स सामने आए थे, जिसके बाद लोगों ने जुमा और उनकी सरकार के खिलाफ प्रोटेस्ट किया था।

बैंक ऑफ बड़ौदा पर मदद का आरोप

हाल ही में साउथ अफ्रीका स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा पर गुप्ता परिवार की मदद का आरोप लगा था, जिसके चलते बैंक ने देश में अपनी सेवाएं खत्म करने का एलान किया था।

बैंकों से संबंध समाप्त, सैलरी देने में परेशानी

बीते कुछ सालों में साउथ अफ्रीका के कई बैंकों ने गुप्ता परिवार के साथ बिजनेस रिलेशन खत्म किए हैं। इसके चलते परिवार को कंपनी के कामकाज और स्टाफ की सैलरी देने में दिक्कत आ रही थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story