Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

''एयरो इंडिया 2019'' का आगाज, गगन में गरजे तेजस, राफेल, सुखोई

एयरोस्पेस और रक्षा निर्माण के बड़े बाजार भारत में निवेशकों के आकर्षण का केंद्र कहे जाने वाले एयर शो ‘एयरो-इंडिया 2019'' का आगाज बुधवार को हो गया। इसे एशिया के प्रमुख एयर शो में गिना जाता है।

एयरोस्पेस और रक्षा निर्माण के बड़े बाजार भारत में निवेशकों के आकर्षण का केंद्र कहे जाने वाले एयर शो ‘एयरो-इंडिया 2019' का आगाज बुधवार को हो गया। इसे एशिया के प्रमुख एयर शो में गिना जाता है। यह शो का 12वां संस्करण है जो बेंगलुरु के येलाहांका में आयोजित किया जा रहा है।

पांच दिन तक चलने वाले इस शो में 100 से अधिक रक्षा क्षेत्र की कंपनियां भाग ले रही है। इनमें बोइंग, लॉकहीड मार्टिन, फ्रांस की दसौ एविएशन और स्वदेशी कंपनी एचएएल भी शामिल हैं। पहले दिन के शो में स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस ने कई कमाल दिखाए तो सुखोई, मिग और सारंग हेलीकॉप्टर टीम के करतबों ने भी लोगों को रोमांचित किया।

इस दौरान राफेल और लॉकहीड मार्टिन का फाइटर जेट एफ-21 भी आकर्षण का केंद्र रहा। एयरो इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट में कहा गया है कि इस दौरान कुल 61 विमानों का प्रदर्शन किया जाएगा और 403 प्रदर्शक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

चार साल में 1,27,500 करोड़ रुपए के 150 अनुबंधों किए

इस मौके पर रक्षा मंत्री सीतारमण ने ‘मेक इन इंडिया' की वकालत की और रक्षा निर्माण में 100 एफडीआई को मंजूरी देने समेत सरकार के कदमों का जिक्र किया। सीतारमण ने यह भी कहा कि पिछले चार साल में और मौजूदा वित्त वर्ष में सशस्त्र बलों के लिए रक्षा उपकरण की खरीदारी के लिए भारतीय विक्रेताओं के साथ करीब 1,27,500 करोड़ रुपए के 150 अनुबंधों पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

टाटा और लॉकहीड भारत में बनाएंगे एफ-21

अरबों अरब डॉलर के रक्षा बाजार भारत में अपने उत्पादों को बनाने और बेचने के लिए अमेरिकी रक्षा एवं एयरोस्पेस कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने बुधवार को एयरो शो में नया लड़ाकू विमान एफ-21 पेश किया। साथ ही कंपनी ने इसकाे स्थानीय स्तर बनाने की घोषणा भी की।

बता दें, एफ-21 विमान ‘मेक इन इंडिया' पहल के तहत ‘‘बेजोड़' अवसर उपलब्ध कराता है और अत्याधुनिक वायु शक्ति भविष्य की दिशा में भारत के कदमों को मजबूत करती है।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि भारत के लिए लॉकहीड मार्टिन और टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स द्वारा एफ-21 का विनिर्माण भारत में किया जाएगा। अमेरिकी रक्षा एवं एयरोस्पेस कंपनी ने पूर्व में भारत को एफ-16 लड़ाकू विमान देने की पेशकश की थी।

Share it
Top