Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेवेन्यू विभाग से हुआ ''AADHAR'' डाटा लीक, आरोपी ने एक्टिवेट कराए कई फर्जी सिम

आधार डाटा लीक का मुद्दा महीने दो महीने में कही न कही से सामने आ ही जाता है। इस बार आधार डाटा लीक मामला तेलंगाना के रेवेन्यू डिपार्टमेंट से लीक होने पर मुद्दे की वजह बना हुआ है।

रेवेन्यू विभाग से हुआ AADHAR डाटा लीक, आरोपी ने एक्टिवेट कराए कई फर्जी सिम
X

आधार डाटा लीक का मुद्दा महीने दो महीने में कही न कही से सामने आ ही जाता है। इस बार आधार डाटा लीक मामला तेलंगाना के रेवेन्यू डिपार्टमेंट से लीक हुआ है। जिसकी वजह से यह मुद्दा फिर से चर्चा में आ गया है।

दरअसल, एक युवक ने रेवेन्यू विभाग की वेबसाइट से हजारों लोगों के फिंगरप्रिंट और आधार कार्ड की पूरी जानकारी हासिल कर ली और आधार कार्ड की डिटेल से ही कई फर्जी सिम भी एक्टिवेट करवा लिए।

मामले की जानकारी तब मिली जब एक व्यक्ति ने भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) में शिकायत दर्ज करवाई की उसके आधार से एक सिम एक्टिवेट करवाया गया है। उसके तुरंत बाद UIDAI हरकत में आई और तुरंत जांच शुरू कर दी।

इसे भी पढ़े- सैलरी बढ़ाने की मांग को लेकर सुरक्षा बलों के परिवार ने किया विरोध प्रदर्शन, माओवादियों ने भी दिया साथ

पुलिस ने पेद्दापल्ली जिले से एक सिम कार्ड बेचने वाले को गिरफ्तार किया है जिसके ऊपर मीसेवा से फिंगरप्रिंट और आधार की डिटेल से एक सिम एक्टिवेट का करने का आरोप लगा है।

पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि आरोपी संतोष कुमार ने इस घटना को यूट्यूब से वीडियो देखकर घटना को अंजाम दिया है। इसके लिए उसने स्टाम्प फिंगरप्रिंट डेवलपिंग मशीन भी खरीदा हुआ था। आरोपी ने इस घटना को सोची समझी साजिश के तहत अंजाम दिया।

अब सवाल यह है की जहां एक तरफ सरकार देश की जनता को आधार कार्ड की निजी जानकारी सुरक्षित होने का दवा और भरोसा दिलाती है, तो भविष्य में तकनीकी की इस दुनिया में कैसे इसका सुरक्षित उपाय ढूंढेगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story