Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चंदन हत्या मामले के एक आरोपी ने किया अदालत में किया सरेंडर

गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा यात्रा के दौरान हुई चंदन गुप्ता की हत्या के मामले के एक आरोपी ने आज अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया।

चंदन हत्या मामले के एक आरोपी ने किया अदालत में  किया सरेंडर

गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा यात्रा के दौरान हुई चंदन गुप्ता की हत्या के मामले के एक आरोपी ने आज अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस अधीक्षक पीयूष श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपी आसिफ ने एक स्थानीय अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। अब पुलिस उसे रिमांड पर लेने का प्रयास कर आगे की पूछताछ करेगी। श्रीवास्तव ने बताया कि आसिफ चंदन की हत्या के बाद से ही अपने घर से फरार था।

ये भी पढ़ें- तेंदुलकर ने रमाकांत आचरेकर को किया याद, कहा- गुरु और माता- पिता की तरह होते हैं कोच

पुलिस उसकी तलाश में संभावित जगहों पर लगातार छापेमारी कर रही थी।
उल्लेखनीय है कि कासगंज में 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के दौरान हुई हिंसा में फायरिंग से चन्दन की मौत हो गयी थी। चंदन हत्या मामले के दो आरोपियों को पुलिस ने कल पकडा था।
श्रीवास्तव ने बताया कि चंदन हत्या मामले के दो आरोपी वसीम और नसीम को कल दो तमंचों और कुछ कारतूस सहित गिरफ्तार किया गया है। ये दोनों मुख्य आरोपी सलीम के सगे भाई हैं।
श्रीवास्तव ने बताया कि हत्या मामले के मुख्य आरोपी सलीम को पुलिस ने 31 जनवरी को ही गिरफ्तार कर लिया था और उसकी निशानदेही पर एक तमंचा बरामद किया था। इसी मामले के आरोपी राहत कुरैशी को तीन फरवरी को पुलिस ने काशीराम कालोनी से गिरफ्तार किया था।
उन्होंने बताया कि मामले के एक अन्य आरोपी सलमान को पुलिस ने छह फरवरी को किसरौली रोड से गिरफ्तार किया था। कासगंज हिंसा के संबंध में दर्ज 18 मामलों में अब तक 55 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।
इस बीच जिलाधिकारी आर पी सिंह के निर्देश पर मुख्य आरोपी के नाम जारी दो हथियार लाइसेंस निरस्त कर दिये गये। सिंह ने बताया कि दो हथियारों, एक रिवाल्वर और एक डीबीबीएल गन के लाइसेंस सलीम के नाम पर थे जो रद्द कर दिये गये हैं। ये भी जांच की जा रही है कि इन दो हथियारों का इस्तेमाल उक्त घटना में किया गया था या नहीं।
कासगंज में गणतंत्र दिवस के मौके पर भड़की सांप्रदायिक हिंसा में चंदन की मौत हो गयी थी। उसे गोली लगी थी। चंदन की मौत के बाद कासगंज में हिंसा तेज हो गयी थी। कई दुकानों, बसों और अन्य वाहनों को आग लगा दी गयी थी। प्रशासन ने एक व्हाटसएप ग्रुप के एडमिनिस्ट्रेटर को भी गिरफ्तार किया जो आपत्तिजनक एवं सांप्रदायिक रूप से भड़काऊ पोस्ट कर रहा था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top