Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कलमाड़ी के बाद चौटाला सशर्त IOA पद छोड़ने को तैयार

राजनेता अभय चौटाला ने आईओए के आजीवन अध्यक्ष के तौर पर यह बयान दिया है।

कलमाड़ी के बाद चौटाला सशर्त IOA पद छोड़ने को तैयार
नई दिल्ली. सुरेश कलमाड़ी के भारतीय ओलिंपिक एसोसिएशन (आईओए) का आजीवन अध्‍यक्ष पद छोड़ने के एक दिन बाद अब इसके एक अन्य पूर्व अध्यक्ष अभय चौटाला ने कहा है कि यदि आईओए के फैसले का इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी अनुमोदन नहीं करती है, तो वह आजीवन अध्‍यक्ष पद छोड़ने के लिए तैयार हैं।
इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, भारतीय ओलिंपिक संघ (आइओए) के आजीवन अध्यक्ष नियुक्त किये गये अभय सिंह चौटाला ने गुरूवार को कहा कि यदि अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति (आइओसी) उनके इस पद को स्वीकारती नहीं है तो वह एक बार फिर भारतीय खेलों के हित में अपना पद त्याग देंगे। चौटाला ने आइओए के आजीवन अध्यक्ष और हरियाणा ओलिंपिक संघ(एचओए) के अध्यक्ष के रूप में एक बयान जारी कर कहा,”मैं आइओए को आजीवन अध्यक्ष के मानद पद पर खुद को नियुक्त करने के लिये धन्यवाद देता हूं।
मैं अपने पद का त्याग करने के लिये तैयार
मैंने एक अलग पत्र के जरिये आइओए के अध्यक्ष एन रामचंद्रन को सूचित किया है कि यदि आइओसी को मेरा इस पद पर नियुक्त होना पसंद नहीं आता है तो मैं अपने पद का त्याग करने के लिये तैयार हूं।' उन्होंने कहा, 'आइओए ने गुवाहाटी और चेन्नई में अपनी वार्षिक बैठक में प्रस्ताव पारित कर मुझे नियुक्त किया, लेकिन यह भी देखना है कि इस पर आइओसी की क्या प्रतिक्रिया रहती है। मैंने हमेशा भारतीय खेलों, खिलाड़यिों, सुशासन, पारदर्शिता और खेलों में ईमानदारी के लिये काम किया है।'
वर्ष 2012 में सर्वसम्मति से आइओए का अध्यक्ष चुना
चौटाला ने कहा, 'वर्ष 2012 में मुझे सर्वसम्मति से आइओए का अध्यक्ष चुना गया है, लेकिन जब भारत के अंदर ही निहित स्वार्थी तत्वों ने आइओए के संविधान में संशोधन लाने का काम किया तब मैंने अपना पद त्यागने का फैसला किया। इस संशोधन के कारण मैंने भारतीय खेलों के हित में आइओए अध्यक्ष का पद छोड़ दिया था।'
मुझे उम्मीद नहीं थी कि मैं आजीवन अध्यक्ष नियुक्त किया जाउंगा
चौटाला ने कहा, 'मुझे यह उम्मीद नहीं थी कि आइओए पूर्व परंपरा के अनुसार मुझे सर्वसम्मति से आजीवन अध्यक्ष नियुक्त करेगा। इसलिये मैं आइओए का शुक्रगुजार हूं। मैंने 25 वर्षों से अधिक समय तक भारतीय खेलों की निस्वार्थ भाव से सेवा की है। मेरा हमेशा प्रयास रहा है कि मैं भारतीय खेलों खासकर मुक्केबाजी को बढ़ावा देने के लिये अपना योगदान दूं।
खेल मंत्री के संग कई अन्य लोगों ने विरोध किया
उल्लेखनीय है कि आइओए ने चेन्नई में अपनी वार्षिक आम बैठक में चौटाला और सुरेश कलमाडी को आजीवन अध्यक्ष नियुक्त किया है जिसका केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल, पूर्व खेल मंत्री अजय माकन, अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ के अध्यक्ष नरेंद्र ध्रुव बत्रा और कई अन्य लोगों ने विरोध किया है। कलमाडी ने तो अपना नाम भ्रष्टाचार के आरोपों से मुक्त होने तक पद स्वीकारने से इंकार कर दिया है, जबकि चौटाला अब कह रहे हैं कि यदि आइओसी ने मंजूर नहीं किया तो वह अपना पद त्याग देंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top