Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

आरुषि-हेमराज हत्याकांड: तलवार दंपत्ति को इन 4 वजहों से मिली राहत

इलाहाबाद कोर्ट में सीबीआई जांच के दौरान सबूतों के अभाव में उन्हें बरी कर दिया है।

आरुषि-हेमराज हत्याकांड: तलवार दंपत्ति को इन 4 वजहों से मिली राहत

आरुषि-हेमराज हत्याकांड मामले में डासना जेल में बंद राजेश तलवार और नुपूर तलवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट से राहत मिल गई है। कोर्ट में सीबीआई जांच के दौरान सबूतों के अभाव में उन्हें बरी कर दिया है।

यह भी पढ़ें: तलवार दंपति की रिहाई को लेकर सस्पेंस, डासना जेल को नहीं मिली कोर्ट कॉपी

राजेश तलवार और नुपूर तलवार को आज गाजियाबाद की डासना जेल से शाम को रिहा कर दिया जाएगा। लेकिन आखिर हाईकोर्ट ने किन तलीलों पर तलवार दंपत्ति को रिहाई दी। इसको लेकर सभी के मन एक सवाल है।

तलवार दंपत्ति ने ये तमाम सवाल सीबीआई की विशेष कोर्ट में भी उठाए थे, जब इन दोनों को कोर्ट ने दोषी करार दिया था।

पहला सवाल - सीबीआई ने बताया कि आरुषि-हेमराज की हत्या एक कमरे में हुई। बाद में हेमराज का शव छत पर ले गए। जज ने सवाल किया कि जब हेमरात की हत्या आरुषि के कमरे में नहीं हुई तो उसका खून आरुषि के कमरे में क्यों नहीं मिला।

दूसरा सवाल- घटना के बाद सबसे पहले नौकरानी भारती घर पर आई थी। भारती का असली बयान क्या था? इससे साफ होगा कि कातिल घटना के बाद भी घर में ही था या बाहर चला गया था।

यह भी पढ़ें: बड़ी ही बचैनी में गुजरी तलवार दंपति की रात, बेटी के लिए जाहिर किए जज्बात

तीसरा सवाल- घर का दरवाजा खुला था। बाहरी आ सकता था। शराब की बोतलें सबूत हैं। लेकिन सीबीआई ने कहा कि हत्या के वक्त दरवाजा बंद था। घर में दो की हत्या हुई और दो जिंदा थे। तो शक उनपर ही जाता है।

चौथा सवाल- उस रात आरुषि तलवार पर सेक्सुअल असॉल्ट हुआ। डॉक्टर ने पोस्टमॉर्टम के बाद इस बात की गवाही दी। तो ऐसे में मां बाप पर शक नहीं जाता है। कोर्ट ने कहा आपके पास सबूतों की कमी है। इसलिए इन्हें रिहा किया जाता है।

Loading...
Share it
Top