Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मारू के परिवार को 5 लाख का मुआवजा देंगे फड़नवीस, एक डॉक्टर, दो वार्ड अटेंडेंट के खिलाफ मामला दर्ज

मुंबई के नायर अस्पताल में लापरवाही से एक दर्दनाक मौत का मामला सामने आया है। अस्पताल में अपनी मां का एमआरआई कराने गए 32 साल के राजेश मारू नाम के एक लड़के की एमआरआई मशीन में फंसकर मौत हो गई है।

मारू के परिवार को 5 लाख का मुआवजा देंगे फड़नवीस, एक डॉक्टर, दो वार्ड अटेंडेंट के खिलाफ मामला दर्ज

मुंबई के नायर अस्पताल में लापरवाही से एक दर्दनाक मौत का मामला सामने आया है। अस्पताल में अपनी मां का एमआरआई कराने गए 32 साल के राजेश मारू नाम के एक लड़के की एमआरआई मशीन में फंसकर मौत हो गई है।

नायर अस्पताल के खिलाफ राजेश मारू का परिवार और रिश्तेदारों के साथ-साथ स्थानीय भाजपा विधायक एमपी लोढ़ा अस्पताल के डीन के केबिन में विरोध प्रदर्शन रहे हैं। अस्पताल के डीन ने एक वार्ड को सस्पेंड कर दिया है। इससे पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने राजेश मारू के परिवार को 5 लाख रूपए देने की घोषणा की है।

तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

पुलिस ने भी अस्पताल के एक डॉक्टर सिद्धांत शाह, वार्ड बॉय विठ्ठल चौहान, और एक महिला वार्ड अटेंडेंट सुनिता सुर्वे के खिलाफ धारा 304 ए (लापरवाही के कारण मौत) के तहत मामला दर्ज कर लिया है। जांच के लिए अस्पताल ने घटना की सीसीटीवी फुटेज पुलिस को सौंप दी है।

राजेश मारू के जीजा हरीश सोलंकी ने बताया कि उनकी मां की तबियत खराब थी इसलिए नायर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने मां का एमआरआई करवाने के लिए कहा। साथ में राजेश भी था।

इसे भी पढ़ेंः केरल: पहली बार महिला इमाम ने पढ़वाई जुमे की नमाज, कट्टरपंथी से मिली ये धमकी

आरोप है कि एमआरआई रूम के बाहर अस्पताल के वार्ड बॉय ने शरीर पर से घड़ी ओर सोने की चैन तो उतरवा ली लेकिन मरीज को दिया जा रहा ऑक्सीजन सिलिंडर अंदर ले जाने को कहा।

हरीश के मुताबिक, उन्होंने विरोध किया लेकिन साथ में आए वार्ड ब्यॉय ने बताया कि अभी मशीन बंद है। उसके बाद जैसे ही राजेश कमरे में अंदर गया मशीन ने सिलिंडर को अपनी तरफ खींच लिया।

पेट में गैस जाने से मौत

सिलिंडर को पकड़े हुए राजेश भी मशीन में चला गया। तभी दबाव से सिलिंडर का ढक्कन खुल गया और पूरी गैस राजेश के पेट मे चली गई। हरीश का कहना है कि वार्ड ब्यॉय के साथ मिलकर हमने तुरंत उसे खींचना चाहा। उसे खींच भी लिया लेकिन तब तक वो उसकी आंखें बाहर आ चुकी थीं।

Share it
Top