Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोच्ची मेट्रो के 9 किन्नरों ने छोड़ी नौकरी, कहा- नहीं हो पा रहा तनख्वाह से गुजारा

किन्नरों का कहना है कि शहर में चीजें बहुत महंगी हैं।

कोच्ची मेट्रो के 9 किन्नरों ने छोड़ी नौकरी, कहा- नहीं हो पा रहा तनख्वाह से गुजारा

कोच्ची मेट्रो देश का पहला ऐसा मेट्रो है जिसमें 21 ट्रांसजेंडर को नौकरी दी गई। मेट्रो शुरू होने के एक हफ्ते बाद ही इनमें से 9 किन्नरों ने नौकरी छोड़ दी। इन किन्नरों का कहना है कि इन्हें काम के हिसाब से तन्ख्वाह नहीं मिल रही है जिससे उनका गुजारा नहीं हो पा रहा है।

किन्नरों का कहना है कि शहर में चीजें बहुत महंगी हैं। कोच्चि मेट्रो रेल लिमिटेड (केआरएमएल) प्रशासन ने शनिवार को इस मामले में जिला कलेक्टर और सोशल वेलफेयर डिपार्टमेंट से किन्नरों के लिए सस्ती और जीवनयापन करने के लिए योग्य सुविधाओं की मांग की।
कोच्चि मेट्रो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हमारे मैनेजिंग डायरेक्टर ने कलेक्टर से बात की है. इसके साथ ही हम लोग प्राइवेट पार्टियों और सोशल वेलफेयर डिपार्टमेंट से मिलकर उनके लिए व्यवस्था बना रहे हैं।
8 घंटे की ड्यूटी के लिए टिकटिंग सेक्शन पर काम कर रहे लोगों को 10,500 का वेतन मिलता है और हाउसकीपिंग स्टाफ को 9000 रुपए। टिकटिंग अधिकारी शीतल श्याम ने बताया कि 'कई सारे घर किराए पर उपलब्ध हैं, लेकिन मकान मालिक किन्नरों को देने के लिए तैयार नहीं हैं। ऐसे में हमें 600 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से लॉज में रहना पड़ रहा है। रहने के लिए मकान का न मिल पाना अप्रत्याशित मुद्दा है।
शीतल ने कहा कि केएमआरएल कर्मचारियों के लिए सुविधाओं की व्यवस्था कर रहा है। हम में से कई लोगों को शेल्टर होम मिल गया है। कुदुंबश्री ने भी मदद करने का वादा किया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top