Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

5 साल में 75 बार हुआ इंटरनेट बैन, अर्थव्यवस्था को हुआ 62 सौ करोड़ का घाटा

पुलिस के मुताबिक कश्मीर युवाओं को भड़काने वाले 90 फीसदी वॉट्सएप ग्रुप बंद हो गए जिससे पत्थरबाजी में भी कमी आई।

5 साल में 75 बार हुआ  इंटरनेट बैन, अर्थव्यवस्था को हुआ 62 सौ करोड़ का घाटा

देश में रोज-रोज हो रहे कश्मीर हिंसा और सहारनपुर जैसे दंगे फसाद की वजह से सरकार को काफी नुकसान उठाना पड़ता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक हालात पर तुरंत काबू पाने की प्रयास के तहत प्रशासन मोबाइल इंटरनेट सेवा को बैन कर देती है।

लेकिन क्या आपको पता है कि जब इंटरनेट सेवा बंद होती है तो सरकार को करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ता है। इंटरनेट बैन और नुकसान के मामले में टॉप 5 में चार देश ऐसे हैं, जो आंतरिक अशांति और हिंसा से जूझ रहे हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 5 साल में दंगे-फसाद की वजह से 75 बार इंटरनेट सेवा को बंद किया गया है, इस दौरान सरकार को 6200 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ता है।

देश में पिछले 5 साल में जम्मू-कश्मीर में ही 32 बार इंटरनेट सेवा को बंद किया गया है। पुलिस के मुताबिक कश्मीर युवाओं को भड़काने वाले 90 फीसदी वॉट्सएप ग्रुप बंद हो गए जिससे पत्थरबाजी में भी कमी आई।

पुलिस ने बताया कि करीब 300 वाट्सएप ग्रुप थे, जिनके जरिए पत्थरबाजों तक जानकारी पहुंचाई जाती थी। हर ग्रुप में 250 सदस्य रहते थे।

गौरतलब है कि इंटरनेट को बैन करने के मामले में भारत दुनिया में सबसे ऊपर है। देश में साल 2016 में ही 23 बार इंटरनेट सेवा को बंद किया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top