Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारतीय सेना की 6 बटालियन में शामिल होंगे 7000 जवान, सीमा पर रोकेंगे घुसपैठ और तस्करी

पाकिस्तान से लगी देश की अशांत सीमा की पहरेदारी करने वाला सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) छह नयी बटालियन गठित करेगा, जिनमें करीब 7,000 कर्मी होंगे। आधिकारिक सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

भारतीय सेना की 6 बटालियन में शामिल होंगे 7000 जवान, सीमा पर रोकेंगे घुसपैठ और तस्करी

पाकिस्तान से लगी देश की अशांत सीमा की पहरेदारी करने वाला सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) छह नयी बटालियन गठित करेगा, जिनमें करीब 7,000 कर्मी होंगे। आधिकारिक सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

इसे भी पढ़ेंः पाक का हनीट्रैप: जासूसी के आरोप में वायुसेना का ग्रुप कैप्टन हिरासत में

गृह मंत्रालय ने बल को 2,090.94 करोड़ रुपए की राशि भी आवंटित की है। नयी बटालियनों को भारत - बांग्लादेश सीमा पर तस्करी और घुसपैठ के जोखिम वाले इलाकों में भी तैनात किया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि बल द्वारा नयी भर्तियां किए जाने वाले सैनिकों को छह बटालियनों में तैनात किया जाएगा। करीब साल भर में उनका गठन हो जाएगा।

एक बटालियन में एक हजार से अधिक जवान

बीएसएफ के प्रत्येक बटालियन में 1000 से अधिक जवान और अधिकारी होते हैं। सूत्रों ने बताया कि मंत्रालय ने इस सिलसिले में बल के प्रस्ताव को 19 जनवरी को मंजूरी दी थी और बीएसएफ मुख्यालय को इसकी प्रक्रिया शीघ्रता से शुरू करने को कहा था।

पाकिस्तान और बांग्लादेश सीमा की पहरेदारी

पाकिस्तान और बांग्लादेश से लगी सीमाओं की पहरेदारी के बल के कार्य के तहत चार बटालियनों का गठन किया जाएगा। जबकि शेष दो बटालियन कार्यकारी इकाइयों की पूरक होंगी और वे पहले से तैनात जवानों की जगह लेंगी।

चीन की सीमा पर पहरेदारी

भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) पर चीन से लगी देश की 3488 किमी लंबी सीमा की पहरेदारी की जिम्मेदारी है। सूत्रों ने बताया आईटीबीपी को नयी बटालियनें गठित करने की इजाजत देने की गृह मंत्रालय की मंजूरी आखिरी चरणों में है।

Share it
Top