Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नोटबंदी: 30 दिसंबर के बाद ''रिटर्न गिफ्ट'' देने की तैयारी में सरकार

30 दिसंबर के बाद पीएम मोदी राहत के कुछ बड़े कदमों का ऐलान कर सकते हैं।

नोटबंदी: 30 दिसंबर के बाद रिटर्न गिफ्ट देने की तैयारी में सरकार
X
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के ऐलान के बाद से हर रोज आरबीआइ और केंद्र सरकार की तरफ से नए नियमों का ऐलान होता आ रहा है। ऐसे में सरकार अब लोगों के सब्र के बदले में इपहार देने के मूड में है। नोटबंदी के करीब 50 दिन की डेडलाइन के बाद पीएम की ओर से किसी बड़ी घोषणा की तैयारी तेज होने लगी है। सूत्रों के अनुसार यूपी समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव और नोटबंदी के दौरान लोगों को हुई दिक्कतों के मद्देनजर 30 दिसंबर के बाद पीएम मोदी राहत के कुछ बड़े कदमों का ऐलान कर सकते हैं।
उज्ज्वला योजना पर रिपोर्ट
सूत्रों के मुताबिक घोषणाएं क्या होंगी, इस बारे में पिछले कुछ दिनों से कई तरह के अनुमान लगाए जा रहे हैं। शुक्रवार को पीएमओ ने ऐग्रिकल्चर और पेट्रोलियम मिनिस्ट्री से किसानों के कर्ज की ताजा स्थिति और उज्ज्वला योजना पर रिपोर्ट मांगी है। इससे संकेत मिले हैं कि इन दो क्षेत्रों में भी राहत की बड़ी घोषणा की जा सकती है।
अगले 2 साल तक मुफ्त गैस
आपको बता दें कि किसानों की कर्ज माफी की मांग कई राज्यों से पहले ही आ रही है, लेकिन इस घोषणा से पहले वित्त मंत्रालय से भी संपर्क किया जाएगा। उधर उज्ज्वला योजना के बारे में सरकार की मंशा है कि एलपीजी कनेक्शन के साथ अगले 2 साल तक मुफ्त गैस देने की घोषणा कर दी जाए।
एक करोड़ छात्रों को स्कॉलरशिप
वहीं तीसरे विकल्प के रूप में एक करोड़ छात्रों को स्कॉलरशिप को नोटबंदी के रिटर्न गिफ्ट के रूप में पेश किया जा सकता है। चौथे विकल्प के रूप में सस्ते घर बनाने के लिए कुछ मुफ्त राशि के साथ ब्याज रहित लोन की संभावना पर विचार किया जा रहा है।
30 दिसंबर के बाद कुछ बड़ी घोषणा
पीएमओ सूत्रों के अनुसार पीएम 30 दिसंबर के बाद कुछ बड़ी घोषणा जरूर करेंगे। ऐसी संभावना भी व्यक्त की जा रही है कि अगर तब तक आचार संहिता नहीं लागू होती है, तो पीएम मोदी लखनऊ में 2 जनवरी को होने वाली रैली में भी इसकी घोषणा कर सकते हैं।
50 दिन बाद होगा दूसरा अभियान शुरू
मोदी सरकार का मानना है कि 50 दिन बाद जब हालात सुधरने लगेंगे, तो तुरंत दूसरा अभियान शुरू होने से सकारात्मक संदेश जाएगा। खास तौर पर गरीबों के बीच यह संदेश जाएगा कि कालाधन रखने वाले अमीरों के खिलाफ सख्त अभियान जारी है।
कांग्रेस में भी बेचैनी
50 दिनों के बाद पीएम के संभावित पलटवार की संभावना से कांग्रेस में भी बेचैनी हैं। सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी के नेतृत्व में जब किसानों की कर्ज माफी के लिए ज्ञापन दिया गया था, तो इसके पीछे यही सोच थी कि अगर 2 जनवरी को पीएम मोदी इससे जुड़े घोषणा करें तो कांग्रेस इसका श्रेय ले सके।
पीएमओ को कालेधन के बारे में सूचना
इस बीच पीएमओ में इन दिनों हर दिन सैकड़ों फोन और ईमेल आ रहे हैं। इनमें अधिकतर ऐसे फोन हैं जो कालेधन के बारे में सूचना देना चाहते हैं। पीएमओ सूत्रों के अनुसार अब तक लगभग 900 फोन और 2 हजार से अधिक ईमेल आए हैं, जिसमें कालेधन के ठिकानों की सूचना बताई गई।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story