Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

48 कस्टमर्स ने Paytm को लगाया 6 लाख का चूना

सीबीआइ ने इस मामले में एफआइआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

48 कस्टमर्स ने Paytm  को लगाया 6 लाख का चूना
नई दिल्ली. डिजिटल पेमेंट और ई-कॉमर्स कंपनी पेटीएम ने शुक्रवार को कहा है कि उसके 48 ग्राहकों ने उसे 6.15 लाख रुपए का चूना लगा दिया है। इस मामले को लेकर सीबीआइ ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आपका बता दें कि पिछले कुछ दिनों से पेटीएम के सर्वर में लगातार दिक्कतें आ रही हैं। कंपनी ने दावा किया था कि लोग उसके साथ लगातार जुड़ रहे हैं। एेसे में वह अपने सर्वर की क्षमता और दुरुस्त करने में जुटी हुई है। कंपनी अपने सर्वर को भी अपडेट कर रही है।
पेटीएम से जुड़े हजारों लोग
फाइनेंसियल एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, हालांकि कंपनी ने यह नहीं बताया कि कब तक उसका सर्वर ठीक हो जाएगा। इसके अलावा कंपनी ने यह भी नहीं बताया है कि सर्वर डाउन होने का कारण क्या है। वहीं पेटीएम ने एक बयान जारी कर कहा है कि हमारी कई बड़ी कंपनियों के साथ पार्टनरशिप है जिसमें मुख्य रूप से एनएचएआइ टोल, रिलायंस इंफ़्रा, सदभाव, आइआरबी, एमईपी, एलएंडटी और जीएमआर है। अगर पेटीएम ग्राहक इन टूल्स का प्रयोग करते हैं तो उन्हें विशेष छूट दी जाएगी। आपको बता दें, सरकार के नोटबंदी के फैसले बाद जब लोग परेशान हो गए तो उन्होंने ई-वॉलेट का विकल्प अपनाया। जिसके चलते रातों-रात पेटीएम की चांदी हो गई। हर रोज पेटीएम से हजारों लोग जुड़ने लगे, जिसमें आम लोगों के साथ छोटे दुकानदार भी शामिल हैं। लेकिन अब ये दुकानदार परेशान हैं। कभी इनके पैसे फंस जा रहे हैं तो कभी सप्लायर पेटीएम से भुगतान लेने से मना कर देता है।
भुगतान लेने में दिक्कतें
आपको बता दें कि दिल्ली के कनॉट प्लेस में पान की दुकान लगाने वाले विजय शुक्ला की तीन पीढियां इसी धंधे से जुड़ी रही हैं। नोटबंदी के बाद जब विजय को नकदी की दिक्कतें आने लगीं तो इन्होंने पेटीएम अपना लिया। विजय ने सोचा था कि पेटीएम से भुगतान लेने से उनकी समस्या दूर हो जाएगी। लेकिन अब वो परेशान हैं। कभी इंटरनेट धीमे चलता है तो कभी सर्वर डाउन होने के चलते इन्हें भुगतान लेने में दिक्कतें आ रही हैं। आपको बता दें, हाल ही में चिपसेट मेकर कंपनी क्वालकॉम ने कहा था कि भारत में कोई भी मोबाइल एेप सुरक्षित नहीं है। कंपनी का कहना है कि भारत में कोई भी ई-वॉलेट और मोबाइल बैंकिंग ऐप्लिकेशन हार्डवेयर लेवल सिक्योरिटी का इस्तेमाल नहीं करता है जिससे ऑनलाइन लेन-देन को अधिक सुरक्षित रखा जा सके।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top