Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आजादी मांगने वालों ने डाले हथियार

इनके सरेंडर करने के बाद पाकिस्तान और चीन चैन की सांस ले रहे हैं।

आजादी मांगने वालों ने डाले हथियार
X

बलूचिस्तान में 434 चरपंथियों ने शुक्रवार को आत्मसमर्पण कर दिया। बलूचिस्तान पाकिस्तान का सबसे अशांत इलाकों में से एक है। चरपंथियों के आत्मसमर्पण से पाकिस्तान और चीन दोनों अब चैन की सांस ले रहे हैं।

सरेंडर करने वाले सभी विद्रोही पाक सेना और कैम्पों पर हमला करने शामिल रह चुके हैं। ये विद्रोही बलोच रिपब्लिकन आर्मी, बलोच लिबरेशन आर्मी और अन्य कई छोटे प्रतिबंधित संगठन के हैं।

विद्रोहियों के आत्मसमर्पण से चीन और पाकिस्तान दोनों को बड़ा फायदा पहुंचेगा। चीन बलूचिस्तान में ग्वादर पोर्ट विकसित कर रहा है, जो बिजनेस के लिहाज से बहुत महत्वपूर्ण है।

चीन पाकिस्तान इकॉनमिक कॉरिडोर (CPEC) बलूचिस्तान से होकर गुजरेगा। ऐसे में उन विद्रोहियों के सरेंडर से जो आजादी की मांग कर रहे थे, अब दोनों देश अपनी इस योजना को आराम से आगे बढ़ा सकेंगे। बलूचिस्तान कई सालों से आजादी की मांग कर रहा है। दुनियाभर में मौजूद बलोचवासी पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन करते रहते हैं।

पाक आर्मी के दक्षिणी कमांड के लेफ्टिनेंट जनरल अमीर रियाज ने विद्रोहियों के सरेंडर पर कहा कि जो विद्रोही आम जिंदगी जीना चाहता है, वो सरेंडर करने के बाद जी सकता है। जो भी अपने हथियार डालता है, हम उसका स्वागत करते हैं।

बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री सन्नुल्लाह जेहरी ने आरोप लगाया कि लंबे समय से विदेशी एजेंसियां प्रांत के इन मासूम लोगों को भड़का कर यूज कर रही हैं। गैर-कानूनी संगठन बीएलए के कमांडर शेर मोहम्मद ने कहा, 'हमें ऐंटी-पाकिस्तान तत्वों से धोखा मिला है।'

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story