Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सबरीमाला मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का विरोध, 4000 महिलाएं गिरफ्तार

सुप्रीम कोर्ट ने 27 सितंबर को 10 से 50 साल की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी थी। महिलाओं ने कोर्ट के इस फैसले को 800 वर्ष पुरानी परंपरा पर विश्वास रखने वालों के खिलाफ बताया।

सबरीमाला मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का विरोध, 4000 महिलाएं गिरफ्तार

केरल के पथानमथिट्टा जिले में स्थित सबरीमाला मंदिर में हर उम्र की महिलाओं को प्रवेश की अनुमति देने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ राज्य में हजारों महिलाएं विरोध प्रदर्शन कर रही हैं।

सबरीमाला मंदिर की 800 वर्ष पुरानी परंपरा को कायम रखने के लिए केरल में महिलाओं ने विरोध करना शुरू कर दिया है। यह परंपरा सुप्रीम कोर्ट के फैसले से टूट गई है।

मंगलावार को 4000 से अधिक महिलाओं को विरोध के दौरान हिरासत में लिया गया है। महिलाओं की मांग हैं कि केरल सरकार सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश की अनुमति देने के फैसले के खिलाफ उच्चतम अदालत में पुनर्विचार याचिका दायर करे।

आपको बता दें कि 27 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक ऐतिहासिक फैसले में सबरीमला मंदिर में 10-50 आयु वर्ग के बीच महिलाओं को अनुमति देने की पुरानी प्रथा को तोड़ दिया था।

इस विरोध प्रदर्शन के दौरान महिलाओं ने नारे लगाते हुए राज्य सरकार और केंद्र सरकार से मांग की कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले की समीक्षा करनी चाहिए।

महिलाओं का कहना है कि यह फैसला सालों पुरानी परंपरा पर विश्वास रखने वालों के खिलाफ है। हम लोकतांत्रिक व्यवस्था से हमारी बात सुनने के लिए कह रहे हैं।

फैसले के बाद सीएम का सुविधाओं पर ध्यान

कोर्ट के फैसले के बाद और महिलाओं के विरोध प्रदर्शन के बीच, केरल के मुख्यमंत्री पिनाराय विजयन ने सोमवार को एक बैठक आयोजित की थी जिसमें मंदिर की ओर जाने वाले मार्ग के साथ सुविधाओं को बढ़ाने के लिए आवश्यकता पर चर्चा की गई।

खासकर महिलाओं की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए व्यवस्थाओं को बनाने की बात की गई। इस बीच, सीपीआई-एम, भाजपा राज्य इकाई के साथ-साथ पांडलम रॉयल फैमिली समेत कई राजनीतिक दलों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ निराशा व्यक्त की है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top