Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

घाटी में हिंसा फैलाने वाले 400 लोगों की हुई पहचान, होंगे गिरफ्तार

हिंसा फैलाने के लिए 10 से 12 साल तक के बच्चों को उकसाते थे।

घाटी में हिंसा फैलाने वाले 400 लोगों की हुई पहचान, होंगे गिरफ्तार
नई दिल्ली. कश्मीर में फैली हिंसा को नियंत्रित करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों ने उपद्रवियों की पहचान कर 400 स्थानीय नेताओं की लिस्ट तैयार कर ली है। इन पर आरोप है कि घाटी में हिंसा को भड़काने के पीछे इनका हाथ है। बता दें कि पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत एजेंसी ने इन नेताओं के नाम भी राज्य पुलिस से साझा कर चुकी है और जल्द ही इन पर कार्यवाई कर हिरासत में लिया जाएगा।
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, खुफिया अधिकारियों का कहना है कि हिजबुल मुजाहिद्दीन और दूसरे आतंकी भी इस लिस्ट में शामिल हैं। बता दें कि 'कट्टरपंथी' अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के संगठन तहरीक-ए-हुर्रियत और जमात-ए-इस्लामी के कार्यकर्ता भी शामिल हैं।
रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्रीय सुरक्षा के एक अधिकारी ने बताया कि इन लिस्ट में मुख्य रूप से वह स्थानीय नेता शामिल हैं जो इस हिंसा के लिए 10 से 12 साल तक के बच्चों को उकसाते थे। आरोप है कि इनके द्वारा सड़क पर पथराव के लिए भी इन मासूम बच्चों को भड़काया जाता था। इनमें से कई ऐसे अंडरग्राउंड कार्यकर्ता हैं जो कि दक्षिण कश्मीर के गांवों में आतंकवादियों को पनाह देते थे। उन्होने यह भी बताया कि 2010 में हुए फर्जी एनकाउंटर में सात आर्मी अधिकारियों को दोषी पाया गया था।
बता दें कि हाल ही में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू-कश्मीर का दो दिवसीय दौरा किया था जिसमें उन्होने सीएम महबूबा मुफ्ती से चर्चा में कहा कि इस तरह के हिंसा को भड़काने के लिए हमेशा अलग सेना का इस्तेमाल करने के बजाय हमें उन बातों पर गौर करना होगा जिनके द्वारा हिंसा फैल रही है। और उनपर कार्यवाई की जानी चाहिए। बताया जा रहा है कि सरकार का अब सबसे बड़ा मुद्दा यह है कि ईद-उल-जुहा के आने के पहले इस तरह के हिंसा को नियंत्रित किया जाए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top