Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब चांद पर ऐसे बनेगा घर

वैज्ञानिकों ने चांद और मंगल पर मिलने वाली मिट्टी से बड़े भवन बनाने की तकनीक विकसित की है।

अब चांद पर ऐसे बनेगा घर
X

अब 3डी प्रिंटिंग की तकनीक धरती पर ही नहीं, अंतरिक्ष में भी वैज्ञानिकों के लिए सहायक हो रही है। वैज्ञानिकों ने चांद और मंगल पर मिलने वाली मिट्टी से 3डी प्रिंटिंग के जरिये छोटे उपकरण से लेकर बड़े भवन तक बनाने की तकनीक विकसित की है।

बताया जाता है कि इस तकनीक की मदद से धरती से परे दुसरे ग्रहों पर भी कॉलोनियां बनाना संभव हो सकता है। अमेरिका की नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने मंगल और चांद की धूल जैसे कणों से 3डी प्रिंटिंग के जरिये विभिन्न आकृतियां बनाने में सफलता हासिल की है।

वैज्ञानिकों ने इस प्रक्रिया में 3डी प्रिंटिंग तकनीक का सहारा लिया हैं। इस तकनीक से पहले लचीली अस्थियां, ग्रेफीन और कार्बन नैनोट्यूब बनाए जा चुके हैं।

नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी के सहायक प्रोफेसर रेमिल शाह ने कहा, धरती से इतर ग्रहों और चंद्रमा पर सीमित संसाधन ही उपलब्ध हैं। वहां रहने के लिए इन्हीं संसाधनों से व्यवस्था करने की आवश्यकता है।

हमारी 3डी प्रिंटिंग तकनीक धरती से परे रहने की व्यवस्था बनाने में सक्षम है। 3डी प्रिंटिंग से तैयार रबड़ की तरह लचीली और मजबूत इन आकृतियों में 90 फीसद तक उन ग्रहों की धूल का प्रयोग किया जाएगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story