Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

देश में 36 हजार रोहिंग्या मुसलमानों के हो सकते हैं आतंकियों से संबंध: BSF महानिदेशक

भारत-बांग्लादेश सीमा पर 87 रोहिंग्या मुसलमानों को पकड़ा और 76 लोगों को वापस बांग्लादेश भेज दिया गया।

देश में 36 हजार रोहिंग्या मुसलमानों के हो सकते हैं आतंकियों से संबंध: BSF महानिदेशक

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के महानिदेशक ने कहा है कि भारत के कई हिस्सों में करीब 36 हजार रोहिंग्या मुसलमान रह रहे हैं और उनके आतंकी संगठनों के साथ संबंध से इनकार नहीं किया जा सकता है।

2.5 लाख सुरक्षाकर्मियों वाली फोर्स के प्रमुख के.के. शर्मा ने बुधवार को कहा कि हमारे जवानों ने इस साल की शुरुआत से लेकर 31 अक्टूबर तक भारत-बांग्लादेश सीमा पर 87 रोहिंग्या मुसलमानों को पकड़ा और 76 लोगों को वापस बांग्लादेश भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें- पद्मावती विवाद: सीएम ममता बनर्जी की नाक कान काटने वाले को 1 करोड़ रुपये देने का ऐलान

महत्वपूर्ण बात यह है कि बुधवार को ही त्रिपुरा में अगतरला के पास पुलिस ने 8 रोहिंग्याओं को गिरफ्तार किया है, जिसमें चार नाबालिग भी हैं। 1 दिसंबर को बीएसएफ की स्थापना दिवस से पहले पत्रकारों से बातचीत के दौरान शर्मा ने कहा, 'जहां तक हमें सूचना मिली है, करीब 36 हजार रोहिंग्या फिलहाल देश में मौजूद हैं।

यह हमारी एजेंसियों जैसे पुलिस और खुफिया विभाग से मिले इनपुट पर आधारित है।' हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि बीएसएफ को अभी ऐसे किसी केस की जानकारी नहीं है, जिसमें कोई रोहिंग्या हथियार, गोला-बारूद के साथ पकड़ा गया हो या उसका आतंकियों से कोई कनेक्शन हो।

यह भी पढ़ें- भाजपा नेता की सीएम खट्टर को धमकी, पार्टी से निकाल दो, बेइज्जती न करो

शर्मा ने आगे कहा,लेकिन, यह खतरा कि उनमें से कुछ के संबंध आतंकी संगठनों से हो सकते हैं, काफी बड़ा है। इसकी जानकारी हमारी सहयोगी एजेंसियों की ओर से दी गई है और मुझे इस पर कतई संदेह नहीं है।'

सीमा पर निगरानी उपकरणों को किया मजबूत

बीएसएफ चीफ ने बताया कि फोर्स ने बांग्लादेश सीमा पर स्थित अपनी चौकियों पर जवानों और निगरानी उपकरणों को काफी मजबूत किया है, जिससे पड़ोसी देश से भारत में रोहिंग्या मुसलमानों का अवैध तरीके से प्रवेश रोका जा सके। शर्मा ने कहा,'रोहिंग्या एक जटिल मसला है।

यह भी पढ़ें- गुजरात चुनाव: राहुल की सोमनाथ मंदिर में कराई गैर हिन्दू के तौर पर एंट्री, मचा सियासी बवाल

ताजा आंकड़ों के मुताबिक 9-10 लाख रोहिंग्या म्यांमार से बांग्लादेश पलायन कर गए हैं।' उन्होंने कहा कि संभावना यह भी है कि इनमें से लोग भारत आने की भी कोशिश कर रहे हैं।

हमारा रुख स्पष्ट है कि हम किसी भी अवैध आप्रवासी को भारत में घुसने नहीं देंगे, वह रोहिंग्या हो या कोई बांग्लादेशी। उन्होंने कहा कि सीमा पर हम इसकी जांच नहीं कर सकते कि कौन रोहिंग्या है और कौन बांग्लादेशी। ऐसे में जो भी सीमा पार करता है, हम उसे वापस भेज देते हैं।

Share it
Top