Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चोरी हुई 30 लाख ATM कार्ड्स की डीटेल्स, अभी बदलें पिन

32 लाख में से 26 लाख कार्ड VISA और MasterCard वाले हैं

चोरी हुई 30 लाख ATM कार्ड्स की डीटेल्स, अभी बदलें पिन
नई दिल्ली. आपने एटीएम यूज भी न किया हो और पैसे निकल जाएं तो समझ लीजिएगा कि आपका एटीएम कार्ड का पिन किसी और को भी पता चल चुका है। चौंकाने वाली जानकारी यह आ रही है कि देशभर के तमाम बैंकों के करीब 32 लाख एटीएम/डेबिट कार्ड खतरे में आ चुके हैं। इससे पहले एसबीआइ ने अपने छह लाख कार्ड ब्लॉक कर दिए थ। अब पता चला है कि देश के कई बड़े बैंकों की साइबर सुरक्षा में सेंध लग चुकी है। इस खतरे को देखते हुए बैंकों ने अपने ग्राहकों से एटीएम पिन बदलने की अपील की है। साथ ही बैंकों ने उन इंटरनैशनल ट्रांजैक्शनों पर भी रोक लगा दी है जो बिना पिन के किए जा सकते हैं।
सुरक्षा में सेंध की आशंका हिटाची पेमेंट सर्विस के सिस्टम से की जा रही है जो येस बैंक के लिए एटीएम नेटवर्क चलाती है। यह मामला जुलाई के महीने में सामने आया था। हालांकि बैंक का अब भी कहना है कि उसके एटीएम नेटवर्क में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं है और वह ग्राहकों की निजी जानकारी को बचाए रखने के लिए कई कदम उठा रहे हैं।
विशेषज्ञ SISA के फॉरेंसिक ऑडिट में खुलासा हुआ है
इकनॉमिक टाइम्स अखबार के मुताबिक बेंगलुरु के पेमेंट और सिक्योरिटी के विशेषज्ञ SISA के फॉरेंसिक ऑडिट में खुलासा हुआ है कि करीब 32 लाख डेबिट कार्ड की सुरक्षा खतरे में है। इसमें SBI, HDFC, ICICI, AXIS और YES बैंक के कार्ड सबसे ज्यादा प्रभावित हैं।

32 लाख में से 26 लाख कार्ड VISA और MasterCard वाले हैं
32 लाख में से 26 लाख कार्ड VISA और MasterCard वाले हैं जबकि 6 लाख Rupay कार्ड हैं। कई लोगों ने शिकायत की है कि चीन में अलग-अलग जगहों पर उनके कार्ड का इस्तेमाल हुआ जबकि वो कभी वहां गए ही नहीं। इस फर्जीवाड़े की वजह हिटाची पेमेंट सर्विसेस में मालवेयर वायरस बताई जा रही है।
जिन कार्डों की डीटेल्स चोरी हुई है उनकी पहचान हुई
हालांकि, रेग्युलेटरी संस्था का कहना है, 'प्रभावित सिस्टम की जांच की गई है और जिन कार्डों के डीटेल्स चोरी हुए हैं उनकी पहचान की जा चुकी है। साथ ही बैंक अपने स्तर पर सुरक्षा के लिए कदम उठा रहा है। इस घटना ने RBI को भी अपने रिपोर्टिंग फ्रेमवर्क का समीक्षा करने को मजबूर कर दिया है। आरबीआइ ने बैंकों को कहा है कि वह तुरंत इस फ्रॉड के बारे में उसे सूचित करें। इस जानकारी को बिना पहचान उजागर किए अन्य बैंकों के साथ भी साझा किया जाएगा।'
डेबिट कार्ड एहतियाती तौर पर ब्लॉक किए गए हैं
गौरतलब है कि भारतीय स्टेट बैंक ने कहा कि उसके और सहयोगी बैंकों के सवा 6 लाख से भी ज्यादा डेबिट कार्ड एहतियाती तौर पर ब्लॉक किए गए हैं। साथ ही बैंक ने भरोसा दिलाया है कि उसके और 4 सहयोगी बैंकों के बाकी बचे करीब 25 करोड़ कार्ड-होल्डर बिना किसी परेशानी के अपने डेबिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top