Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ट्रेनों में पटाखे लेकर यात्रा करने पर होगी इतने साल की कैद

दिवाली पर विशेष अभियान के तहत ट्रेनों पर नजर रहेगी।

ट्रेनों में पटाखे लेकर यात्रा करने पर होगी इतने साल की कैद

दिवाली पर पूर्व तट रेलवे ने मेल, एक्सप्रेस के अलावा अन्य ट्रेनों पर पटाखा लेकर यात्रा करने वालों पर विशेष अभियान शुरू किया है। यात्री के सामान में पटाखे व अन्य ज्वलनशील पदार्थ पाए जाने पर तीन साल की सजा हो सकती है।

बताया जाता है कि पटाखों व विस्फोटकों के परिवहन से होनेवाले नुकसान के बारे में रेल यात्रियों व रेल उपयोगकर्ताओं को जागरूक करने के लिए पूर्व तट रेलवे के संरक्षा विभाग की ओर से भी कदम उठाये जा रहे हैं।

खुशखबरी: रायपुर से दिल्ली का हवाई सफर हुआ सस्ता

ट्रेनों में ज्वलनशील पदार्थों और पटाखों के परिवहन पर रोक लगाने के लिए विभिन्न ट्रेनों में औचक जांच भी की जा रही है।

बताया जाता है कि यात्रियों की सुरक्षा के लिए खोरधा रोड, संबलपुर और वाल्टेयर मंडल को ज्वलनशील पदार्थों के परिवहन पर कड़ी नजर रखने के लिए विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया गया है।

पूर्वी तट रेलवे ने यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए रेलवे ने यात्रियों से अपील की है कि सावधान रहें। पटाखे या अन्य ज्वलनशील सामग्रियों को साथ लेकर न स्वयं यात्रा करें। न ही सहयात्रियों को ऐसा करने दें।

यह भी पढ़ें- एक लाख किसानों के राशनकार्ड होंगे निरस्त

यदि कोई व्यक्ति ज्वलनशील सामग्री के साथ यात्रा करता है तो यात्रियों को खतरे से बचाने के लिए इसकी सूचना ड्यूटी पर तैनात रेलकर्मी जैसे टीटीई, कोच अटेंडेंट, ट्रेन के गार्ड, स्टेशन मैनेजर, आरपीएफ एवं जीआरपी कर्मी को सूचित करें।

क्या है कानून

ट्रेनों में पटाखों, गैस सिलेंडर, एसिड, पेट्रोल, केरोसिन, सूखी पत्तियां, थर्मिक वेल्डिंग, सिगड़ी, स्टोव आदि के साथ यात्रा पूरी तरह से प्रतिबंधित है। ऐसा करने पर रेलवे एक्ट 1989 की धारा 164 के तहत दंडनीय अपराध है। इसके तहत दोषियों को तीन साल तक की सजा या 1000 रुपए का जुर्माना या दोनों ही हो सकता है।

हेल्पलाइन नंबर

पटाखों के परिवहन संबंधी किसी भी सूचना के लिए यात्री हेल्प लाइन नंबर 182 पर सूचना दे सकते हैं।

Loading...
Share it
Top