Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केरल की इन 3 कंपनियों के पास है कई देशों से ज्यादा ''गोल्ड''

इन तीन कंपनियों के पास 263 टन सोने की ज्वैलरी बताई गई है।

केरल की इन 3 कंपनियों के पास है कई देशों से ज्यादा गोल्ड
X
कोच्चि. इतिहास में भारत का नाम सोने की चिड़िया के रुप में दर्ज हैं। इसलिए शायद दुनिया के कई अमीर देशों के पास भी इतना सोना नहीं होगा जितना केरल की तीन 'गोल्ड लोन कंपनियों' के पास बताया गया है। मुथूट फाइनैंस, मणप्पुरम फाइनैंस और मुथूट फिनकॉर्प के पास करीब 263 टन (करीब 2,63,000 किलोग्राम) सोने की ज्वैलरी बताई गई है। इन 3 कंपनियों के पास बेल्जियम, सिंगापुर और आस्ट्रेलिया से भी ज्यादा सोना है।
टाइम्स अॉफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक केरल की इन कंपनियों के पास इतना सोना है जितना की किसी भी देश के गोल्ड रिज़र्व में नहीं है। मुथूट फाइनैंस, मणप्पुरम फाइनैंस और मुथूट फिनकॉर्प के पास करीब 263 टन (करीब 2,63,000 किलोग्राम) सोने की ज्वैलरी रखी है। यह सोना बेल्जियम, सिंगापुर, स्वीडन और ऑस्ट्रेलिया के पास रखे गोल्ड रिज़र्व से भी ज़्यादा है। बता दें कि केरल में दो लाख लोग गोल्ड इंडस्ट्री में काम करते हैं। भारत में बड़ी संख्या में लोग सोना गिरवी रखकर लोन लेते हैं।
दुनिया में सोने की कुल मांग का 30 फीसद हिस्सा भारत का है। यहां लाखों लोग सेफ मनी के रूप में सोना खरीदते हैं। साथ ही इसका सामाजिक महत्व भी बहुत है। केरल में दो लाख लोग गोल्ड इंडस्ट्री में काम करते हैं। भारत में बड़ी संख्या में लोग सोना गिरवी रखकर लोन लेते हैं।
दो साल पहले मुथूट फाइनैंस के पास 116 टन (1,16,000 किलो) सोना था जो अब 150 टन (1,50,000 किलो) हो गया है। यह दुनिया के अमीर देशों में शुमार सिंगापुर (127.4 टन), स्वीडन (125.7), ऑस्ट्रेलिया (79.9 टन), कुवैत (79 टन), डेनमार्क (66.5 टन) और फिनलैंड (49.1 टन) के पास रिज़र्व के रूप में रखे सोने से भी ज़्यादा है। भारत में सोना रखने के मामले में मणप्पुरम फाइनैंस और मुथूट फिनकॉर्प भी बड़े खिलाड़ी हैं। इनके पास क्रमशः 65.9 और 46.88 टन सोना रखा है। इन तीनों कंपनियों के पास कुल 262.78 टन सोना रखा है।
वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के मुताबिक, गोल्ड रिज़र्व रखने के मामले में भारत दुनिया में ग्यारहवें स्थान पर आता है। अमेरिका इस मामले में सबसे आगे है। उसके पास 8,134 टन सोना रिज़र्व में रखा है। वहीं जर्मनी और आईएमएफ (इंटरनैशनल मॉनिटरी फंड) के पास क्रमशः 3,378 और 2,814 टन सोना है। गोल्ड फील्ड्स मिनरल सर्विसेज़ (GFMS) के गोल्ड सर्वे के मुताबिक, भारत सोने का उपभोग करने वाले देशों में सबसे टॉप है। साल 2016 के तीसरे तिमाही तक यहां 107.6 टन सोने की खपत हुई है। तुलनात्मक रूप से इसी समय में पूरे यूरोप और नॉर्थ अमेरिका में सिर्फ 67.1 टन सोना खरीदा-बेचा गया। इस मामले में चीन दूसरे नंबर पर है, जहां 98.1 टन सोने की खपत बताई गई है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story