Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

3.5 लाख लोगों ने छोड़ी एलपीजी सब्सिडी: मोदी

पीएम ने 13 करोड़ लोगों को सब्सिडी का प्रत्यक्ष अंतरणजनधन योजना का जिक्र किया।

3.5 लाख लोगों ने छोड़ी एलपीजी सब्सिडी: मोदी

पेरिस. भारत में करीब 3.5 लाख संपन्न लोगों ने सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर लेना छोड़ दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि इससे बचने वाली राशि का स्थानांतरण उन लोगों को किया जाएगा जो आज भी खाना पकाने के लिए लकड़ी का इस्तेमाल करते हैं। मोदी ने यहां प्रवासी भारतीयों के समूह को संबोधित करते हुए कहा कि वह करीब एक सप्ताह पहले यह सोच रहे थे कि संपन्न लोग क्यों नहीं एलपीजी सब्सिडी सरेंडर करते हैं।

एसबीआई ने होम लोन की ब्याज दरों में की चौथाई फीसदी तक कटौती

उन्होंने कहा कि इस संबंध में किए गए आह्वान में शामिल होते हुए करीब दो लाख लोगों ने एक सप्ताह में ही स्वेच्छा से एलपीजी सब्सिडी छोड़ दी है। इससे वह उत्साहित हैं। प्रधानमंत्री ने बताया कि पिछले गुरुवार तक 3.5 लाख लोगों ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ी थी। इससे जो पैसा बचेगा वह सरकारी खजाने में नहीं जाएगा, बल्कि उन लोगों को दिया जाएगा जो आज भी खाना पकाने के लिए लकड़ी का इस्तेमाल करते हैं। मोदी ने कहा कि इससे जलवायु परिवर्तन की समस्या से निपटने में मदद मिलेगी। जब तक खाना पकाने के लिए लकड़ी का इस्तेमाल किया जाता रहेगा, जंगलों की कटाई जारी रहेगी।

ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर में जब हो जाए गलती तो ऐसे पाएं पैसे वापस

फ्रांस जैसे विकसित देश बने भारत

पिछले 10 माह के दौरान प्रधानमंत्री के रूप में अपने अनुभव के आधार पर वह कह सकते हैं कि इस बात की कोई वजह नहीं है कि भारत गरीब रहे। भारत को ऐसा विकसित देश बनाने जो फ्रांस जैसे विकसित देश को भी पीछे छोड़ दे, के सपने के बारे में मोदी ने कहा कि देश में काफी संभावनाएं हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश का पूर्वी क्षेत्र अब भी पीछे है। उनका उद्देश्य बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल व ओड़िशा जैसे राज्यों को विकसित बनाना है। कुछ चीजें रह गई हैं जो मुझे करनी हैं। उन्होंने कहा कि वह राज्यों पर विकास के लिए दबाव डाल रहे हैं और उनसे स्वास्थ्य सेवा आदि पर धन खर्च करने को कह रहे हैं।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, 13 करोड़ लोगों को सब्सिडी का प्रत्यक्ष अंतरण -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top