Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

15 फरवरी 2017 भारत के लिए गौरवपूर्ण दिवस: मन की बात में पीएम मोदी

104 उपग्रह को अंतरिक्ष में भेजकर इतिहास रचने वाला भारत दुनिया का पहला देश बना।

15 फरवरी 2017 भारत के लिए गौरवपूर्ण दिवस: मन की बात में पीएम मोदी
X
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 29वीं बार लोगों से अपने मन की बात की। उन्होंने कार्यक्रम में इसरो के वैज्ञानिकों की जमकर तारीफ की। पीएम ने कहा कि 15 फरवरी 2017 भारत के लिए गौरवपूर्ण दिवस है। हमारे वैज्ञानिकों ने विश्व के सामने भारत का सर गर्व से ऊंचा किया है।
ISRO ने कई अभूतपूर्व मिशन सफलतापूर्वक पूर्ण किए हैं। 'मंगलयान' भेजने के बाद पिछले दिनों इसरो ने विश्व रिकॉर्ड बनाया। इसरो ने मेगा मिशन के जरिये एक साथ विभिन्न देशों के 104 उपग्रह अन्तरिक्ष में सफलतापूर्वक लांच किए हैं।
104 उपग्रह को अंतरिक्ष में भेजकर इतिहास रचने वाला भारत दुनिया का पहला देश बना और यह लगातार 38वां पीएसएलवी का सफल लांच है। भारत का उपग्रह कार्टोसैट-2डी के माध्यम से खींची हुई तस्वीरों से संसाधनों की मैपिंग, आधारभूत ढांचे की प्‍लानिंग में मदद मिलेगी।
पीएम मोदी ने कहा कि हमारी युवा-पीढ़ी का विज्ञान के प्रति आकर्षण बढ़ना चाहिए। देश को बहुत सारे वैज्ञानिकों की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि नीति आयोग एवं भारत के विदेश मंत्रालय ने 14वें प्रवासी भारतीय दिवस के समय एक बड़ी यूनिक प्रकार की कॉम्पिटिशन की योजना की थी। जो विशिष्ट बुद्धि प्रतिभा रखते हैं, वो जिज्ञासा को जिज्ञासा नहीं रहने देते, उनकी जिज्ञासा नई खोज का कारण बन जाती है।

समाज उपयोगी इनोवेशन को इनवाइट किया गया। ऐसे इनोवेशन्स को आईडेंटिफाई करना, शोकेस करना, लोगों को जानकारी देना। हमारा समाज टेक्नोलॉजी ड्रिवन हो रहा है। व्यवस्थायें टेक्नोलॉजी ड्रिवन हो रही हैं। टेक्नोलॉजी हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन रही है।

उन्होंने डिजि-धन का उल्लेख करते हुए कहा कि इसपर ज़ोर दिया जा रहा है, लोग नकद से डिजिटल करेंसी की तरफ़ बढ़ रहे हैं। भारत में डिजिटल ट्रांजेक्शन तेज़ी से बढ़ रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि 14 अप्रैल डॉ। बाबा साहेब अम्बेडकर की जन्म-जयंती का पर्व है और अभी-अभी बाबा साहेब अम्बेडकर की 125वीं जयंती गई है। उनका स्मरण करते हुए लोगों को भीम एप डाउनलोड करना सिखायें। उससे लेन-देन कैसे होती है, वो सिखायें और ख़ास करके आस-पास के छोटे-छोटे व्यापारियों को सिखायें।

कृषि का उल्लेख करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश की अर्थव्यवस्था के मूल में कृषि का बहुत बड़ा योगदान है। गांव की आर्थिक ताक़त, देश की आर्थिक गति को ताक़त देती है। किसानों के परिश्रम से इस वर्ष रिकार्ड अन्न उत्पादन हुआ है।

इस वर्ष देश में लगभग 2 हज़ार 700 लाख टन से भी ज्यादा खाद्यान्न का उत्पादन हुआ है। किसान परंपरागत फ़सलों के साथ-साथ देश के ग़रीब को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग दालों की भी खेती करें क्योंकि दाल से ही सबसे ज़्यादा प्रोटीन ग़रीब को प्राप्त होता है।

देश के किसानों ने ग़रीबों की आवाज़ सुनी और क़रीब-क़रीब दो सौ नब्बे लाख हेक्टेयर धरती पर भिन्न-भिन्न दालों की खेती की। ये सिर्फ दाल का उत्पादन नहीं है, किसानों के द्वारा हुई मेरे देश के ग़रीबों की सबसे बड़ी सेवा है।

दिव्यांगों का जिक्र करते हुइए उन्होंने कहा कि रियो पैराओलंपिक में हमारे दिव्यांग खिलाड़ियों ने जो प्रदर्शन किया, हम सबने उसका स्वागत किया था। वर्ल्डकप के फाइनल में भारत ने पाकिस्तान को हराते हुए लगातार दूसरी बार वर्ल्ड चैपिंयन बन करके देश का गौरव बढ़ाया।

दिव्यांग भाई-बहन सामर्थ्यवान,दृढ़-निश्चयी होते हैं,साहसिक होते हैं,संकल्पवान होते हैं, हर पल हमें उनसे कुछ-न-कुछ सीखने को मिल सकता है। देश का कोई भी नागरिक जब कुछ अच्छा करता है, तो पूरा देश एक नई ऊर्जा का अनुभव करता है, आत्मविश्वास को बढ़ाता है।

महिलाओं का साहस बढाते हुए उन्होंने कहा कि खेल हो या अंतरिक्ष-विज्ञान- महिलायें किसी से पीछे नहीं हैं, एशियाई रग्बी सेवन्स ट्रॉफी हमारी महिला खिलाड़ियों ने सील्वर जीता।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story