Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारत-चीन सीमा पर बनेंगी 2100 किलोमीटर लंबी सड़कें

चीन और पाकिस्तान की सीमा पर चौकसी को मजबूत करने और रणनीतिक लिहाज से बढ़त हासिल करने के लिए सरकार 44 सड़कें बनाने की तैयारी में है। इन सड़कों की लंबाई 2,100 किमी के करीब होगी।

भारत-चीन सीमा पर बनेंगी 2100 किलोमीटर लंबी सड़कें

चीन और पाकिस्तान की सीमा पर चौकसी को मजबूत करने और रणनीतिक लिहाज से बढ़त हासिल करने के लिए सरकार 44 सड़कें बनाने की तैयारी में है। इन सड़कों की लंबाई 2,100 किमी के करीब होगी। इस परियोजना में 21,000 करोड़ रुपये की लागत आने का अनुमान है।

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के दस्तावेजों के मुताबिक सरकार रणनीतिक दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण सीमांत क्षेत्रों में 44 सड़कें बनाने जा रही है। इनका निर्माण चीन से सटे इलाकों और पाकिस्तान से सटे राजस्थान एवं पंजाब के क्षेत्र में होगा।

इन राज्याें में बनेगी सड़क: चीन से सटे जिन इलाकों में सड़कों के निर्माण की योजना है, वे जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में हैं।

प्रॉजेक्ट की डीपीआर के मुताबिक इस प्रॉजेक्ट पर 21,040 करोड़ रुपये की लागत आएगी। डीपीआर को अभी पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति से मंजूरी मिलना बाकी है।


44 सड़कों का होगा निर्माण
सरकार ने भारत-चीन सीमा पर रणनीतिक लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण 44 सड़कों के निर्माण का आदेश दिया है। इन सड़कों के निर्माण का मकसद यह है कि किसी भी आपातस्थिति में सेना तत्काल सीमा तक पहुंच सके। ऐसे में इन सड़कों का निर्माण रणनीतिक लिहाज से चीन के मुकाबले बढ़त हासिल करने में महत्वपूर्ण साबित होगा।

चीन के साथ भारत की 4000 किमी लंबी सीमा
चीन के साथ भारत की जम्मू-कश्मीर से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक 4,000 किमी लंबी सीमा लगती है। भारत सरकार ने यह कदम ऐसे वक्त में उठाया है, जब चीन भी भारत से सटे अपने इलाकों में इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में जुटा है।
2017 में भारत और चीन की सेनाएं सिक्किम से सटे डोकलाम इलाके में दो महीने से ज्यादा समय तक आमने-सामने थीं।  28 अगस्त को एक एग्रीमेंट के बाद चीन और भारत की सेनाओं के बीच यह गतिरोध समाप्त हुआ था।
Share it
Top