Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

2017: जानें आखिर साल भर भारत में रहे कौन से 5 बड़े विवाद

देशभर के कई हिस्सों में कई मामलों को लेकर विवाद देखने को मिला।

2017: जानें आखिर साल भर भारत में रहे कौन से 5 बड़े विवाद

साल 2017 खत्म होने जा रहा है और दिसंबर खत्म होने का इंतजार कर रहा साल 2018। साल 2017 ने भारत को कई बड़े बदलाव दिखाए। देश में कई नई चीजें देखने को मिली।

इसके साथ ही इस साल भारत कई विवादों में भी घिरा रहा। देशभर के कई हिस्सों में कई मामलों को लेकर विवाद देखने को मिला। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि साल भर भारत किन विवादों से घिरा रहा।
1. डोकलाम विवाद- भारत और चीन के बीच 73 दिनों तक डोकलाम विवाद चला। भौगोलिक रूप से डोकलाम भारत चीन और भूटान बार्डर के तिराहे पर स्थित है। जिसकी भारत के नाथुला पास से मात्र 15 किलोमीटर की दूरी है। चुंबी घाटी में स्थित डोकलाम सामरिक दृष्टि से भारत और चीन के लिए काफी महत्वपूर्ण है। साल 1988 और 1998 में चीन और भूटान के बीच समझौता हुआ था कि दोनों देश डोकलाम क्षेत्र में शांति बनाए रखने की दिशा में काम करेंगे।
भारत के सिक्किम, चीन और भुटान के तिराहे पर स्थित डोकलाम पर चीन हाइवे बनाने की कोशिश में था जिसका भारतीय खेमा विरोध कर रहा था। उसकी बड़ी वजह ये थी कि अगर डोकलाम तक चीन की सुगम आवाजाही हो गई तो फिर वह भारत को पूर्वोत्तहर राज्यों से जोड़ने वाली चिकन नेक तक अपनी पहुंच और आसान कर सकता है।
2. पद्मावती विवाद- संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर देशभर के कई हिस्सों में विरोध देखने को मिल रहा है। खासकर राजपूत समाज के लोग इस फिल्म का विरोध कर रहे हैं। विरोध जता रहे लोगों का कहना है कि भंसाली ने इतिहास से छेड़छाड़ की है। फिल्म के गाने घूमर पर विरोध किया जा रहा है।
3. भारत-पाकिस्तान विवाद- ये विवाद तो कई सालों से चला आ रहा है। पाकिस्तान की ओर से आतंकी लगातार सीजफायर उल्लंघन करते हैं। आतंकियों को मार गिराने के लिए भारतीय सेना ने ऑपरेशन ऑलआउट की शुरूआत की है जिसमें अबतक 200 आतंकी मारे गए हैं। इस साल सेना ने कई ए++ कैटगरी के आतंकीयों को मार गिराने में बड़ी सफलता हासिल की।
4. तीन तलाक का मुद्दा- इस साल सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को लेकर ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को असंवैधानिक करार दिया है। इसको लेकर केंद्र सरकार कानून बनाने की तैयारी में है। तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर देशभर में उलेमाओं ने विरोध किया।
5. गौरक्षा विवाद- इस साल गौरक्षा को लेकर भी काफी विवाद रहा। गौरक्षकों के हमले से देश के कई हिस्सों में निर्दोष लोगों की हत्या हुई है। गाय की रक्षा के नाम पर कथित गौरक्षकों नें निर्दोष लोगों की हत्या कर दी। सुप्रीम कोर्ट ने गौ रक्षा के नाम पर होने वाली हिंसा को गंभीरता से लिया।सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकारों को निर्देश देते हुए ऐसी हिंसा से निपटने के लिए प्रत्येक जिले में टास्क फोर्स गठित करने के निर्देश दिए।
Share it
Top