Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खुलासा: ISI के संपर्क में था फारूक टकला, दुबई में संभालता था दाऊद का कारोबार

सीबीआई को गुरुवार को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। सीबीआई की टीम 1993 मुंबई ब्लास्ट के आरोपी और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के करीबी फारुक टकला को दुबई से गिरफ्तार कर मुंबई लाई है।

खुलासा: ISI के संपर्क में था फारूक टकला, दुबई में संभालता था दाऊद का कारोबार
X

मुंबई ब्लास्ट के आरोपी और दाऊद के करीबी फारुक टकला को लेकर एक नया खुलासा हुआ है। भारतीय खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का खास गुर्गा फारूक टकला पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के संपर्क में भी था। फारूक अक्सर दुबई और कराची के बीच ट्रैवल करता था और वो पाकिस्तान आने वाले D कंपनी के लोगों की मदद भी करता था।

अवैध कारोबार की करता था देखरेख

एजेंसियों का मानना है कि फारूक ने संयुक्त अरब अमीरात में अपना नेटवर्क इतना मजबूत कर लिया था कि वो दाऊद के इशारे पर अरब में गैंग के सदस्यों के मदद मुहैया कराता था। इतना ही नहीं टकला दुबई में दाऊद के अवैध कारोबार की देखरेख भी करता था।

सीबीआई को गुरुवार को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। सीबीआई की टीम 1993 मुंबई ब्लास्ट के आरोपी और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के करीबी फारुक टकला को दुबई से गिरफ्तार कर मुंबई लाई है।

ऐसे हुआ गिरफ्तार

1993 मुंबई ब्लास्ट के बाद 1995 में फारूक के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी की गई थी। फारूक टकला 1993 के बाद से ही भारत से भाग गया था। सीबीआई की टीम गुरुवार सुबह ही एयर इंडिया के विमान से फारुक को मुंबई लाई है और सीबीआई दफ्तर ले गई। पारुक को अब टाडा कोर्ट में पेश किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- राजस्थान: पीएम मोदी आज लॉन्च करेंगे 'राष्ट्रीय पोषाहार मिशन', सीएम वसुंधरा राजे भी रहेंगी मौजूद

वहीं फारूक टकला की गिरफ्तारी को लेकर वरिष्ठ वकील उज्जवल निकम ने कहा कि यह एक बहुत बड़ी सफलता है। फारुक 1993 में हुए मुंबई सीरियल ब्लास्ट में शामिल था। साथ ही उन्होंने कहा कि यह डी-गैंग के लिए बहुत बड़ा झटका है।

कौन है फारूक टकला?

फारूक टकला का जन्म 17 फरवरी, 1961 को मुंबई में हुआ था। फारूक को दाऊद इब्राहिम का दायां हाथ बताया जाता था। जानकारी के मुताबिक, फारूक ने ही मुंबई ब्‍लास्‍ट की योजना तैयार की थी। साथ ही इस पर ब्लास्ट की साजिश, मर्डर व आतंकी गतिविधियों में शामिल होने जैसे आरोप हैं।

क्या था मामला?

गौरतलब है कि 12 मार्च, 1993 को मुंबई में एक के बाद एक 12 बम धमाके हुए थे। इन बम धमाकों में करीब 257 लोगों की मौत हो गई थी और 700 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। जानकारी के मुताबिक, इन बम धमाकों में 27 करोड़ रुपये संपत्ति नष्ट हुई थी। वहीं इस मामले में 129 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किए गए थे।

टाडा कोर्ट ने साल 2007 में 100 लोगों को सजा सुनाई। जिसमें याकूब मेमन को 2015 में फांसी हुई थी। मुंबई ब्लास्ट से जुड़े एक अन्य मामले में ही एक्टर संजय दत्त अवैध हथियार रखने के दोषी पाए गए और उन्हें टाडा कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई थी। लेकिन मुंबई ब्लास्ट का मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम 1995 से अब तक फरार है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story