Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

1984 सिख दंगे / सज्जन कुमार के खिलाफ दूसरे मामले में सुनवाई एक महीने के लिए टली

दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) ने कांग्रेस नेता सज्जन कुमार (Sajjan Kumar) के खिलाफ 1984 के सिख विरोधी दंगे के एक और मामले में सुनवाई को 22 जनवरी तक टाल दिया है। इस मामले में सज्जन कुमार पर सिखों की हत्या करने के लिए भीड़ को उकसाने का आरोप है।

1984 सिख दंगे / सज्जन कुमार के खिलाफ दूसरे मामले में सुनवाई एक महीने के लिए टली
दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) ने कांग्रेस नेता सज्जन कुमार (Sajjan Kumar) के खिलाफ 1984 के सिख विरोधी दंगे के एक और मामले में सुनवाई को 22 जनवरी तक टाल दिया है। इस मामले में सज्जन कुमार पर सिखों की हत्या करने के लिए भीड़ को उकसाने का आरोप है।
सज्जन कुमार के मुख्य वकील अनिल शर्मा कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए थे जिसके कारण सुनवाई टाल दी गई है। सज्जन कुमार, ब्रह्मानंद गुप्ता और वेद प्रकाश सुल्तानपुरी में सुरजीत सिंह की हत्या के मामले और दंगों को भड़काने के आरोपों का सामना कर रहे हैं।
गवाह ने 16 नवंबर को अदालत में सज्जन कुमार की पहचान उस व्यक्ति के रूप में कर ली थी जिसने कथित तौर पर दंगे भड़काए। गवाह ने कहा था कि 31 अक्टूबर 1984 को हम इंदिरा गांधी की हत्या की खबर टीवी पर देख रहे थे।
एक नवंबर 1984 को जब सज्जन भीड़ को संबोधित कर रहे थे कि हमारी मां मार दी, सरदारों को मार दो। महिला गवाह ने आगे कहा कि अगली सुबह उनके घर हमला किया गया जिसमें उनके बेटे और पिता की हत्या कर दी गई। एक अन्य महिला गवाह ने सज्जन कुमार की पहचान उस व्यक्ति के रूप में की जिसने कथित तौर पर सुल्तानपुरी में भीड़ को उकसाया था।
आपको बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ने सिख दंगों के एक मामले में 17 दिसंबर को सज्जन कुमार सिख विरोधी दंगों में दोषी ठहराते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी। अदालत ने कहा था कि यह दंगे मानवता के खिलाफ अपराध था। दोषी ने राजनीतिक संरक्षण पाकर जांच को प्रभावित किया।
Loading...
Share it
Top