Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

महज 48 घंटे ही सांस ले पाया 32 सप्ताह का शिशु

मुंबई में 13 साल की नाबालिग को कोर्ट ने गर्भपात की इजाजत दी थी, जिसके बाद उसने एक बच्चे को जन्म दिया।

महज 48 घंटे ही सांस ले पाया 32 सप्ताह का शिशु
सुप्रीम कोर्ट से नाबालिग को मिली गर्भपात की इजाजत के बाद उसका गर्भपात करवाया गया। उसे बीते शुक्रवार को मुंबई के जेजे अस्पताल में नाबालिग युवती का गर्भपात कराया गया। लेकिन असमय जन्म की वजह से नवजात बच्चे की मौत हो गई।
बीते रविवार को सुबह 4 बजे उसकी हालत बिगड़ गई और 10 बज कर 30 मिनट में उसकी मौत अस्पताल में हो गई। इस मामले पर डाक्टरों ने कहा कि नवजात की मौत की एक वजह उसके असामयिक जन्म हो सकता है।
डॉक्टरों का कहना है नवजात के शरीर से ज्यादा खून बहने से भी उसकी मौत हो सकती है। इसको लेकर डॉक्टरों ने कहा कि नवजात की मौत आखिर किस वजह से हुई है, इसको लेकर उसकी बॉडी को पोस्टमार्ट के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम के बाद ही पता चलेगा कि आखिर नवजात की मौत कैसे हुई है।

वहीं परिजनों ने मांग की है कि नवजात का पोस्टमार्टम होने के बाद उसे परिजनों को सौंपा जाए। बता दें कि पीड़िता सातवीं कक्षा की छात्रा है और मुंबई की ही रहने वाली है। कानून में 20 हफ्तों से अधिक का गर्भ गिराने पर रोक है, इसलिए पीड़िता को इसकी इजाजत के लिए सुप्रीम कोर्ट जाना पड़ा था।

Next Story
Share it
Top