Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तेज आंधी और तूफान का कहर, यूपी और राजस्थान समेत देशभर में 116 लोगों की मौत

उत्तरप्रदेश और राजस्थान में आंधी-तूफान के कारण जनहानि पर दुख प्रकट करते हुए पीएम ने अधिकारियों को समन्वय बनाने और प्रभावितों को तुरंत राहत प्रदान किया जाना सुनिश्चित करने को कहा है।

तेज आंधी और तूफान का कहर, यूपी और राजस्थान समेत देशभर में 116 लोगों की मौत
X

उत्तर प्रदेश और राजस्थान के साथ देश के विभिन्न हिस्सों में देर रात आए आंधी-तूफान के कारण हुए हादसों में कम से कम 116 लोगों की मौत हो गई तथा 47 अन्य घायल हो गए।

उत्तरप्रदेश और राजस्थान में आंधी-तूफान के कारण जनहानि पर दुख प्रकट करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अधिकारियों को राज्यों के साथ समन्वय बनाने और प्रभावितों को तुरंत राहत प्रदान किया जाना सुनिश्चित करने को कहा है।

मौसम विभाग के अनुसार क्षेत्र में बने चक्रवाती परिसंचार तंत्र से आगामी 48 घंटों के दौरान उत्तरप्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में फिर से धूल भरी आंधी आने का पूर्वानुमान है।

इसे भी पढ़ें- जीएसटी काउंसिल की 27वीं बैठक आज, रिटर्न प्रक्रिया को आसान बनाने पर रहेगा जोर

जयपुर के भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिक हिमांशु शर्मा ने बताया कि राजस्थान में आगामी 48 घंटों के दौरान उच्च क्षमता की तेज हवाओं के चलने से धूल भरा अंधड़ आने की आशंका है।

इससे उत्तर प्रदेश और राजस्थान के सीमावर्ती क्षेत्र विशेषकर करौली, धौलपुर जिले प्रभावित हो सकते हैं। जबर्दस्त आंधी-तूफान की वजह से अनेक मकान ध्वस्त हो गये, पेड़ गिर गये और बिजली के खम्बे उखड़ गए।

उत्तरप्रदेश में तेज आंधी-तूफान, बिजली गिरने और ओलावृष्टि के कारण हुए हादसों में 64 लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने बताया कि राजस्थान में 33 लोगों की मौत के साथ कुल 97 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य में करीब 100 लोग घायल हो गए।

उत्तरप्रदेश में सबसे ज्यादा जनहानि आगरा जिले में हुई जहां 36 लोगों की मौत हो गई तथा 35 अन्य जख्मी हो गए। आगरा के अलावा, उत्तरप्रदेश में बिजनौर, बरेली, सहारनपुर, पीलीभीत, फिरोजाबाद, चित्रकूट, मुजफ्फरनगर, रायबरेली और उन्नाव भी प्रभावित हुआ।

राजस्थान में सबसे ज्यादा धौलपुर जिला प्रभावित हुआ जहां 17 लोगों की मौत हो गई। धौलपुर में जिन दो लोगों की मौत हुयी उसमें दो लोग उत्तरप्रदेश के आगरा के थे। आपदा प्रबंधन और राहत सचिव हेमंत कुमार गेरा ने बताया कि कुछ लोगों का उपचार चल रहा है जबकि कुछ को छुट्टी दे दी गयी है।

इसे भी पढ़ें- कर्नाटक विधानसभा चुनाव: पीएम मोदी ने बेल्लारी में कहा- कांग्रेस का 'आखिरी किला' भी होगा ध्वस्त

गंभीर रूप से घायल एक मरीज को धौलपुर से जयपुर भेजा गया है। उन्होंने बताया कि आंधी आपदा की विस्तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा है, हालांकि राहत दलों को सड़कों से मलबा हटाने, बिजली की सप्लाई को चालू करने सहित अन्य राहत कार्यो में लगाया गया है।

उन्होंने बताया कि आंधी प्रभावित जिला प्रशासन को आकस्मिक निधि कोष से राशि जारी की गई है। मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए का मुआवजा, 60 प्रतिशत तक घायल हुए लोगों को दो-दो लाख रूपये का मुआवजा, 40 से 50 प्रतिशत तक घायल हुए लोगों को 60-60 हजार रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्राकृतिक आपदा पर दुख व्यक्त करते हुए जिला प्रशासन को निर्देश दिया है कि वह पीड़ितों को हर संभव राहत पहुंचाए। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्बन्धित जिलाधिकारियों को आंधी-तूफान और बारिश से प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश दिए हैं।

पीएम ने ट्वीट कर दुख जताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना दुख जताते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है-दुखी हूं मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

दिल्ली में भी आंधी

दिल्ली के आसपास चक्रवाती हवाओं का सिस्टम बनने से बुधवार शाम मौसम अचानक बदल गया। दिनभर तेज धूप के बाद शाम 5 बजे 60 किमी/घंटे की रफ्तार से तेज आंधी चली। कुछ देर आंधी के बाद तेज बारिश हुई। 26 जगहों पर पेड़ और दीवार गिरने की सूचना मिली। कई जगह ट्रैफिक भी जाम रहा।

इनपुट-भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story