Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

1,000 करोड़ रुपये बगैर दावे के पड़े डाकघर में, कोई नहीं है दावेदार

सरकार ने जानकारी देते हुए कहा कि डाक विभाग द्वारा चलायी जाने वाली विभिन्न बचत योजनाओं के तहत करीब 1,000 करोड़ रुपये की ऐसी राशि पड़ी हुई है, जिसके बारे में अभी तक कोई दावा नहीं किया गया है।

1,000 करोड़ रुपये बगैर दावे के पड़े डाकघर में, कोई नहीं है दावेदार
नई दिल्ली. सरकार ने जानकारी देते हुए कहा कि डाक विभाग द्वारा चलायी जाने वाली विभिन्न बचत योजनाओं के तहत करीब 1,000 करोड़ रुपये की ऐसी राशि पड़ी हुई है, जिसके बारे में अभी तक कोई दावा नहीं किया गया है।
संचार एवं आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक सवाल के लिखित उत्तर में राज्यसभा को बताया कि डाकघरों के बचत बैंक में 1,000.61 करोड़ रुपये बगैर दावे के पड़े हैं, जिसमें इंदिरा विकास पत्र के लिए 894.59 करोड़ रुपये, पांच वर्षीय राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र के लिए 60.02 करोड़ रुपये, सावधिक जमा के लिए 24.20 करोड़ रुपये शामिल हैं। इसके अलावा कुछ और राशि भी बगैर दावे के डाक विभाग में पड़ी हुई है।
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 'बगैर दावे की राशि होने का मुख्य कारण बहुत पहले बंद कर दी गई और लघु बचत योजनाओं में जमाकर्ताओं द्वारा निवेश की गई धनराशि के परिपक्व होने के बाद उस राशि को नहीं निकाला जाना है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top