Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कैश की किल्लत: 100 रुपये के इन नोटों की वजह से बढ़ सकती है समस्या

कैश की किल्लत के बीच देश के कई राज्यों में 100 रुपये के पुराने, मटमैले नोटों की वजह से संकट और गहरा सकता है।

कैश की किल्लत: 100 रुपये के इन नोटों की वजह से बढ़ सकती है समस्या
X

कैश की किल्लत के बीच देश के कई राज्यों में 100 रुपये के पुराने, मटमैले नोटों की वजह से संकट और गहरा सकता है। बैंकर्स का कहना है कि 200-2000 के नोटों की ही तरह 100 रुपये के नोटों की सप्लाई भी कम है।

बैंकर्स ने कहा कि ऐसा इसलिए हो रहा है कि क्योंकि 100 रुपये के अधिकतर नोट एटीएम में डालने योग्य नहीं हैं। 100 रुपये के ये नोट 2005 से भी पुराने हैं और कुछ बहुत ज्यादा मटमैले हैं।

यह भी पढ़ें- सिद्धारमैया का दावा, कर्नाटक में पूर्ण बहुमत के साथ कांग्रेस वापस सत्ता में आएगी

बैंकर्स ने भारतीय रिजर्व बैंक से इस समस्या पर ध्यान देने का आग्रह किया है। बैंक के एक करंसी मैनेजर के अनुसार अगर भारतीय रिजर्व बैंक 100 रुपए के नए नोट तेजी नहीं लाती है तो 500 रुपए के नोटों पर आने वाले दिनों में दबाव होगा।

आपको बता दें कि आठ नवंबर 2016 में हुई नोटबंदी के तुरंत बाद भारतीय रिजर्व बैंक ने 100 रुपये के नोटों की सप्लाई बढ़ा दी थी। 2016-17 में नोटबंदी से पहले 100 रुपये के 550 करोड़ पीस नोट चलन में थे और भारतीय रिजर्व बैंक ने इसे बढ़ाकर 573.8 करोड़ कर दिया।

हालांकि, बैंकर्स का कहना है कि यह पर्याप्त नहीं था। जब 500 रुपये के नोट आसानी से उपलब्ध नहीं थे तो उस समय क्योंकि 100 रुपये के नोटों का इस्तेमाल 2000 रुपये के नोटों के चेंज के रूप में हुआ।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story