Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

2050 तक दुनिया में हो जाएंगे 10 अरब लोग

41 फीसदी विकासशील देशों की और 16 फीसदी विकसित देशों में जनसंख्या बढ़ेगी।

2050 तक दुनिया में हो जाएंगे 10 अरब लोग
नई दिल्ली. दुनिया की बढ़ती आबादी को लेकर पॉपुलेशन रिफ्ररेंस ब्यूरो ने हाल ही में अपनी रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में 2050 तक दुनिया की आबादी 7.4 अरब से बढ़कर 9.9 अरब तक बढ़ने की संभावना जताई है। अनुमान है कि जनसंख्या में 33 फीसदी की बढ़ोतरी होगी।
पीआरबी की डाटा शीट के अनुसार 2053 तक दुनिया की कुछ जनसंख्या 10 अरब के पार हो जाएगी। रिपोर्ट दावा करती है कि सबसे ज्यादा बढ़ोतरी एशिया महाद्वीप में होगी, यहां 900 मिलीयन (लाख) की बढ़ोतरी के साथ 5.3 बिलीयन (अरब) तक जनसंख्या हो जाएगी।
डाटा सीट में यह भी
पीआरबी की डाटासीट के अनुसार दुनिया की 25 फीसदी आबादी 15 साल के आसपास है। आंकड़े बताते हैं कि कम से कम 41 फीसदी विकासशील देशों की और 16 फीसदी विकसित देशों में जनसंख्या बढ़ेगी। जहां तक जापान की बात है तो उसकी आबादी का एक चौथाई से अधिक भाग 65 साल के बुजुर्ग हैं। जबकि यूएई में केवल एक फीसदी लोग ही 65 साल के ऊपर जी रहे हैं। दुनिया में अभी यूरोप और एशिया में 33 देश ऐसे हैं जहां 65 साल के अधिक और 15 साल के कम उम्र की जनसंख्या है।
42 ऐसे देश हैं जिनकी संख्या में गिरावट दर्ज की गई है। ये देश एशिया, लेटिन अमेरिका और यूरोपीय महाद्वीपों के हैं। यदि जन्मदर दर के तौर पर देखा जाए तो यूएस में प्रति महिला 1.8 बच्चे हैं, यहां संख्या घटी है 2014 में यहां प्रति महिला 1.9 बच्चों की संख्या थी। जबकि अफ्रिका में प्रति महिला 6 बच्चे औसतन हैं, जोकि फिलहाल सबसे ज्यादा हैं।
हालांकि पूरे विश्व में जन्मदर की दर गिर रही है, फिर भी जो जनसंख्या अब तक है उसके विकास के आधार पर यह 2050 तक 10 बिलीयन (अरब) तक पंहुच जाएगी। केवल यूरोप की जनसंख्या में ही 12 लाख की कमी देखी जा सकती है। जबकि अफ्रिका की जनसंख्या में दुगनी होने जा रही है। -जैफरी जार्डन, सीईओ एवं अध्यक्ष पीआरबी
किस महाद्वीप में कितनी बढ़ोतरी
एशिया- 5.3 बिलीयन (अरब)
अफ्रिका- 2.5 बिलीयन
अमेरिका- 1.2 बिलीयन
यूरोप- 728 मिलीयन (लाख)
ऑस्ट्रेलिया+न्यूजीलैंड- 66 मिलीयन
खास बातें
-जापान में 65 साल से ऊपर की एक चौथाई आबादी
-जबकि यूएई में 65 साल से ऊपर मात्र एक फीसदी जनसंख्या
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top