Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मेन्स्ट्रुएशन बेनिफिट बिल 2017ः पीरियड्स के दौरान मिलेगी छुट्टी, नहीं कटेगी सैलरी

सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने वाली महिलाओं को दो दिन के लिए ''पेड पीरियड लीव'' यानी पीरियड्स के दौरान दो दिन के लिए छुट्टी दी जानी चाहिए और इन छुट्टियों के बदले उनके पैसे नहीं काटे जाने चाहिए।

मेन्स्ट्रुएशन बेनिफिट बिल 2017ः पीरियड्स के दौरान मिलेगी छुट्टी, नहीं कटेगी सैलरी

पीरियड्स के दौरान दर्द होना पीड़ादायक होता है। इस दौरान महिलाओं घर और बाहर का सारा काम संभालना पड़ता है। ऐसी स्थित में भी महिलाएं ऑफिस जाती है ताकि उनकी सैलरी न कटे। देश में पहली किसी सांसद ने इससे जुड़े बिल का प्रस्ताव रखा है।

इस बिल मेन्स्ट्रुएशन बेनिफिट बिल, 2017 रखा गया है। जिसमें कहा गया है कि सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने वाली महिलाओं को दो दिन के लिए 'पेड पीरियड लीव' यानी पीरियड्स के दौरान दो दिन के लिए छुट्टी दी जानी चाहिए और इन छुट्टियों के बदले उनके पैसे नहीं काटे जाने चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः 'राज्यसभा चुनाव पर भूचाल, 'आप' तो ऐसे नहीं थे'

इसका प्रस्ताव अरुणाचल प्रदेश से सांसद कांग्रेस पार्टी के निनॉन्ग एरिंग ने रखा है। निनॉन्ग एरिंग ने कहा कि, “मैंने अपने आस-पास के अनुभवों को देखकर लाने का ये बिल लाने का फ़ैसला किया।”उन्होने कहा, “एक दिन मैंने ख़बर पढ़ी कि मुंबई की एक प्राइवेट कंपनी ने महिलाओं को पीरियड के पहले दिन छुट्टी देने का फ़ैसला किया है और यहीं से मेरे मन में बिल का विचार आया।"

निनॉन्ग ने कहा, "मैं जानता हूं कि एक बड़ा तबका शिक़ायत करेगा कि औरतें जब बराबर हैं तो फिर उन्हें ये ख़ास सुविधा क्यों। पुरुष ख़ुद इस अनुभव से नहीं गुज़रते शायद इसीलिए उन्हें औरतों के दर्द का अंदाज़ा नहीं है।"

कई देशों में है पेड लीव

उन्होंने कहा, "जापान, इंडोनेशिया और दक्षिण कोरिया जैसे देशों में ये पॉलिसी काफ़ी पहले से है और वहां औरतों की काम में भागीदारी कम नहीं है। अगर चीजों को बड़े दायरे में रखकर देखा जाए तो इस पॉलिसी के फ़ायदे ही होंगे, नुक़सान नहीं।"

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top