Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्कूल की बिल्डिंग न होने की वजह से टॉयलेट में पढ़ाई करते हैं बच्चे

स्कूल की दूरी नीमच जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर है।

स्कूल की बिल्डिंग न होने की वजह से टॉयलेट में पढ़ाई करते हैं बच्चे
X

मध्यप्रदेश के भोपाल के नीमच जिले में छोटे-छोटे बच्चे टॉयलेट में पढ़ने के लिए मजबूर हैं। दरअसल स्कूल की बिल्डिंग नहीं है इसलिए बच्चे टॉयलेट में बैठकर पढ़ाई पूरी करते हैं। इस स्कूल का निर्माण वर्ष 2012 में हुआ था लेकिन इस स्कूल में एक ही टीचर है।

इसे भी पढ़ें: मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलने पर राज्यसभा में जोरदार बहस

स्कूल की दूरी नीमच जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर है। यह स्कूल वर्ष 2013 में किराए के एक कमरे में चलाया जाता था लेकिन ये ज्यादा दिन तक न टिक पाया। स्कूल के टीचर कैलाश चंद्र ने कहा कि स्कूल की कोई नई बिल्डिंग नहीं है जिसकी वजह से बच्चों की क्लास टॉयलेट में लेनी पड़ती है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि जिस टॉइलट में बच्चे पढ़ाई करते हैं उस टॉयलट में बकरियों को भी शरण दी जाती है। मध्य प्रदेश शिक्षा मंत्री विजय शाह ने कहा कि राज्य में 1.25 लाख स्कूल हैं और संसाधन सीमित हैं जिसकी वजह से अन्य स्कूलों की बिल्डिंग तैयार न हो सकी। उन्होंने बताया कि इन बच्चों की पढ़ाई के लिए किराए के कमरों की व्यवस्था की जा रही है।
शाह ने कहा कि इस मामले पर हमने कलेक्टर और विभाग से बात की है। हम स्कूल की और बिल्डिंगे नहीं बना सकते हैं लेकिन किराए का स्पेस ले सकते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story