Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ट्रक में ठूंसकर शिफ्टिंग, 21 गायों की मौत

पशु चिकित्सा विभाग के डॉक्टर गंभीर रूप से घायल गायों की उपचार कर रहे हैं।

ट्रक में ठूंसकर शिफ्टिंग, 21 गायों की मौत
X

दुर्ग व धमधा जिले के राजपुर, गोडमर्रा और रानो में क्रूरता से हुई गायों की मौत का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ है कि जिम्मेदारों की लापरवाही से अब फिर 21 गायों की मौत हो गई, जबकि 38 गायें गंभीर रूप से घायल हैं।

विवाद के बाद इन गोशालाओं से बाहर शिफ्ट की जा रही गायों को वाहनों में इस कदर ठूंसा गया कि 21 गायों ने नए ठिकाने पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया।

जानकारी के मुताबिक बासुदेव माहुलकोट गौशाला से 113 गायों को बेमेतरा जिला के रानो गांव स्थित मयूरी गौशाला में बेहतर देखभाल के लिए भेजा गया था, लेकिन गायों पर हुए अत्याचार के बाद सोमवार को मयूरी गौशाला से पुन: सौ से ज्यादा गायों को वापस देवभोग के माहुलकोट गौशाला लाया गया।

मंगलवार को जब ट्रक यहां पहुंचा तो ट्रक के अंदर ही 7 गायों की मौत हो चुकी थी, जबकि ट्रकों से उतारने के दौरान 5 गायों की मौत हो गई। वाहनों में इस कदर गायों को ठूंस-ठूंस कर भरा गया था कि 28 मवेशियों को गंभीर चोटें आई है।

हालांकि पशु चिकित्सा विभाग के डॉक्टर उनका उपचार कर रहे हैं, लेकिन स्थिति अब भी काबू में नहीं है। बताया जाता है कि गायों की मौत की वजह लापरवाही एवं नियम विपरीत परिवहन है।

गायों को शिफ्टिंग के दौरान जिस तरह के वाहनों का उपयोग किया जाता है और कुछ सावधानी बरती जाती है, जिसका जरा भी ख्याल नहीं रखा गया। पशु विभाग व गौशाला के जिम्मेदारों द्वारा नियमों की अनदेखी से फिर 12 गायों की मौत हुई है। मृत गायों को पोस्टमार्टम कर दफना दिया।

क्षमता से ज्यादा परिवहन, 9 मृत

बेमेतरा जिले के ग्राम रानो स्थित मयूरी गौ रक्षा केन्द्र से मंगलवार सुबह लाए गए 66 मवेशियों में से 9 मवेशियों की मौत हो गई। ट्रक क्रमांक सीजी 09 पी 1679 से 40 व सीजी 07 जेडसी 3623 से 26 मवेशियों को भिखापाली स्थित विद्यादेवी गौशाला लाया गया।

गौ शाला के अध्यक्ष गणेश अग्रवाल ने बताया कि सदस्यों के समक्ष वाहन से मवेशियों को उतारा गया, जिसमें वाहन में ही 8 गाय एवं 1 बछड़े की मौत हो गई थी तथा 10 मवेशी घायल मिले।

श्री अग्रवाल द्वारा तत्काल तेन्दूकोना पशु चिकित्सा अधिकारी को घायल मवेशियों के उपचार हेतु जानकारी दी। पश्चात कुछ ही समय में जिला पशुचिकित्सा अधिकारी विद्यादेवी गौशाला पहुंचे। देर शाम मृत मवेशियों का पोस्ट मार्टम पश्चात गौशाला परिसर में दफनाया गया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story